Women T20 World Cup: अंतराराष्ट्रीय महिला दिवस पर भारतीय महिला टीम की शर्मनाक हार

India Vs Australia In Women T20 World Cup - Sakshi Samachar

 पहली बार फाइनल में पहुंच कर हार गई इंडिया

टी-20 वर्ल्ड कप जीतने का सपना अधूरा रह गया

मेलबर्न :  अंतराराष्ट्रीय महिला दिवस पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम का पहली बार महिला वर्ल्ड टी-20 का खिताब जीतने का सपना अधूरा रह गया। रविवार को मेलबर्न क्रिकेट मैदान में खेले गए फाइनल मुकाबले में उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। अपना छठा फाइनल खेल रही चार बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने यहां जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए भारतीय टीम को हर क्षेत्र में मात दी। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 85 रन के विशाल अंतर से हराकर रिकॉर्ड पांचवीं बार खिताब पर कब्ज़ा जमाया। ऑस्ट्रेलियाई टीम छठी बार फाइनल में पहुंची थी। वहीं, भारतीय टीम पहली बार फाइनल में पहुंची थी और उसका पहला खिताब जीतने का सपना टूट गया।

यहां करीब 80,000 दर्शकों की मौजूदगी में आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 184 रन का स्कोर बनाया और फिर भारत को पांच गेंद शेष रहते 99 रन पर ढेर कर दिया। ऑस्ट्रेलिया से मिले 185 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत काफी खराब रही और टीम नियमित अंतराल पर विकेट गंवाती चली गई। भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने सर्वाधिक 33 रन बनाए। उन्होंने 35 गेंदों पर दो चौके लगाए।

उनके अलावा वेदा कृष्णामूर्ति ने 19, ऋचा घोष ने 18, स्मृति मंधाना ने 11 और कप्तान हरमनप्रीत कौर ने चार रनों का योगदान दिया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मेगन शट ने चार और जेस नोनासन ने तीन जबकि सोफी मोलिन्यूक्स, डेलिसा किमिंस और निकोला कैरी ने एक-एक विकेट लिया।

इससे पहले, आस्ट्रेलिया ने क तूफानी शुरूआत करते हुए निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट पर 184 रन का स्कोर का मजबूत स्कोर बनाया। ऑस्ट्रेलियाई टीम को उसके दोनों ओपनरों बेथ मूनी (नाबाद 78) और एलीसा हिली (75) ने पहले विकेट के लिए 11.4 ओवर में 115 रनों की साझेदारी करके तूफानी शुरूआत दी।

विशाल होती जा रही इस साझेदारी को राधा यादव ने हिली को सीमा रेखा पर वेदा कृष्णामूर्ति के हाथों कैच कराकर तोड़ा। हिली ने 39 गेंदों पर सात चौके और पांच छक्कों की मदद से अपने करियर का 12वां अर्धशतक लगाया। हिली के आउट होने के बाद मूनी ने अपने करियर का नौवां अर्धशतक पूरा किया और उन्होंने कप्तान मेन लेनिंग (16) और मूनी ने दूसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े। लेनिंग के आउट होने के बाद ही एश्लेग गार्डनर (2) की आउट हो गई।
 

दोनों बल्लेबाज दीप्ति शर्मा की ओवर में आउट हुई। दीप्ति ने अपने चौथे औवर में लेनिंग और गार्डनर को आउट करके भारत को मैच में वापस लाने की कोशिश की। मूनी ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और अपनी टीम को मजबूत लक्ष्य तक पहुंचाया। मूनी ने 54 गेंदों पर 10 चौके लगाए।

उनके अलावा कप्तान मेग लेनिंग ने 15 गेंदों पर दो चौकों की बदौलत 16, एश्लेग गार्डनर ने दो, रचेल हायेनेस ने चार और निकोला कैरी ने नाबाद पांच रन बनाए।
भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने दो और राधा यादव तथा पूनम यादव ने एक-एक विकेट चटकाए।

Advertisement
Back to Top