भारतीय कार्पोरेट इतिहास में नया धमका, रिलायंस इंडस्ट्रीज ऋणमुक्त कम्पनी बनी

 Reliance Industries becomes debt-free company New achievement in Indian corporate  - Sakshi Samachar

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 58 दिनों में 1,68,818 करोड़ रुपये जुटा लिए

जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला पिछले 58 दिनों से जारी है

मुम्बई :  मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रिकॉर्ड कायम करते हुए मात्र 58 दिनों की छोटी सी अवधि में 1,68,818 करोड़ रुपये जुटा लिए। इस अवधि में रिलायंस की सब्सिडियरी जियो प्लेटफॉर्म्स में वैश्विक निवेशकों की तरफ से 1,15,693.95 करोड़ रुपये का निवेश आया। वहीं रिलायंस ने राइट्स इश्यू के माध्यम से 53,124.20 करोड़ रुपये जुटाए।

इतने कम समय में विश्व स्तर पर इतनी पूंजी जुटाना एक रिकॉर्ड है। भारतीय कॉपोर्रेट इतिहास के लिए भी यह अभूतपूर्व है। महत्वपूर्ण यह है कि फंड जुटाने का यह लक्ष्य कोविड-19 महामारी के कारण हुए वैश्विक लॉकडाउन के बीच हासिल किया गया।

पेट्रो-रिटेल क्षेत्र में बीपी के साथ हुए समझौते को भी इसमें जोड़ लें तो रिलायंस ने कुल 1,75,000 करोड़ रुपये से अधिक का फंड हासिल कर लिया है। 31 मार्च 2020 को कंपनी का नेट कर्ज 1,61,035 करोड़ रुपये था। इस इंवेस्टमेंट और राइट्स इश्यू के बाद कंपनी पूरी तरप ऋण मुक्त हो गई है।

जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला पिछले 58 दिनों से जारी है। निवेशक जियो प्लेटफॉर्म्स में 24.70 प्रतिशत इक्विटी के लिए 1,15,693.95 लाख करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं।

आरआईएल राइट्स इश्यू 1.59 गुना सब्सक्राइब किया गया था। यह पिछले दस वर्षों में एक गैर-वित्तीय संस्था द्वारा दुनिया का सबसे बड़ा राइट्स इश्यू था।
12 अगस्त, 2019 को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के 42वें एजीएम में मुकेश अंबानी ने शेयरधारकों को 31 मार्च 2021 से पहले रिलायंस को ऋणमुक्त करने का आश्वासन दिया था।

कर्ज मुक्त होने की उपलब्धि पर आभार व्यक्त करते हुए मुकेश अंबानी ने कहा, "31 मार्च 2021 के लक्ष्य से पहले रिलायंस को ऋण मुक्त करने का शेयरधारकों से किया अपना वादा पूरा करने पर आज मैं बेहद प्रसन्न हूं। हमारे शेयरधारकों और अन्य सभी हितधारकों की उम्मीदों पर खरा उतरना हमारे डीएनए में है। इसलिए रिलायंस के ऋण-मुक्त कंपनी बनने के गर्व भरे अवसर पर, मैं उन्हेंआश्वस्त करना चाहता हूं कि अपन ेस्वर्णिम दशक में रिलायंस और भीअधिक महत्वाकांक्षी विकास लक्ष्य स्थापित करेगा।"

मुकेश अंबानी ने आगे कहा, "पिछले कुछ हफ्तों से हम जियो में निवेश के लिए वैश्विक वित्तीय निवेशक समुदाय की अभूतपूर्व दिलचस्पी से अभिभूत हैं। वित्तीय निवेशकों से फंड जुटाने का लक्ष्य पूरा हो गया है। हम अपने महत्वपूर्ण निवेशकों के समूह का हृदय से धन्यवाद करते हैं और गर्मजोशी से जियो प्लेटफॉर्म्स में उनका स्वागत करते हैं। मैं सभी खुदरा और घरेलू व विदेशी संस्थागत निवेशकों का राइट्स इश्यू में भारी एवं रिकॉर्ड भागीदारी के लिए दिल से आभार व्यक्त करता हूं।"

Advertisement
Back to Top