भारतीय अर्थव्यवस्था को FDI का बूस्ट अप, 15 प्रतिशत बढ़कर 30 अरब डॉलर हुआ निवेश

FDI Inflow in India rose 15 percent to 26 billion Dollars between April and September - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : भारत (India) में अप्रैल से सितंबर के दौरान एफडीआई में इस साल निवेश काफी बढ़ा है। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के दौरान 15 प्रतिशत बढ़कर 30 अरब डॉलर हो गया। आधिकारिक आंकड़ों में ये पता चला है। 

उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) के आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल-सितंबर 2019-20 के दौरान एफडीआई 26 अरब डॉलर रहा था। इस साल जुलाई में देश में 17.5 अरब डॉलर का एफडीआई आया था। 

अप्रैल-सितंबर 2020-21 के दौरान जिन क्षेत्रों ने अधिक एफडीआई आकर्षित किया, उनमें कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर (17.55 अरब डॉलर), सेवाएं (2.25 अरब डॉलर), ट्रेडिंग (94.9 करोड़ डॉलर), रसायन (43.7 करोड़ डॉलर) और ऑटोमोबाइल (41.7 करोड़ डॉलर) शामिल हैं। 

इस दौरान सिंगापुर (Singapore) 8.3 अरब डॉलर के निवेश के साथ भारत में एफडीआई का सबसे बड़ा स्रोत बनकर उभरा। इसके बाद अमेरिका (7.12 अरब डॉलर), केमैन आइलैंड्स (2.1 अरब डॉलर), मॉरीशस (2 अरब डॉलर), नीदरलैंड (1.5 अरब डॉलर), ब्रिटेन (1.35 अरब डॉलर), फ्रांस (1.13 अरब डॉलर) और जापान (65.3 करोड़ डॉलर) का स्थान रहा। 

इसे भी पढ़ें : 

तेलंगाना में अमेजन ने किया 20,761 करोड़ निवेश, 2022 तक AWS Cloud बनाने का लक्ष्य

डीपीआईआईटी ने कहा कि विदेशी कंपनियों की आय के पुनर्निवेश को जोड़कर कुल एफडीआई करीब 40 अरब डॉलर रहा।
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top