चंद्रबाबू की तारीफ करनेवाले नेताओं को नंदीगामा सुरेश का सवाल

MP Nandigam Suresh questions TDP Leader Harsha Kumar - Sakshi Samachar

चंद्रबाबू ने हमेशा लोगों में जाति-मतभेद पैदा किया

YSRCP दलितों को कल्याण और विकास का लाभ अवश्य पहुंचाएगी

 

अमरावती : वाईएसआरसीपी के सांसद नंदीगामा सुरेश ने चंद्रबाबू की तारीफ करनेवाले नेताओं को सवाल किया। उन्होंने कहा कि खुद को दलित बताते हुए कुछ लोग  'जयभीम' के नारे  लगा रहे हैं। साथ ही 'जय चंद्रबाबू' के भी नारे लगा रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि हर्ष कुमार के राउंड टेबल में दलित वर्ग के लोग किस लिए इकठ्ठा हुए थे? 

मंत्री रहते आदिनारायण रेड्डी ने दलितों के साथ अन्याय किया था। उस समय हर्ष कुमार और श्रावण कुमार कहां थे? चिंतामनेनी दलितों को 'तुझे क्या जरूरत है राजनीति की?, कहा था। उस समय हर्ष कुमार ने अपने प्रतिक्रिया क्यों नहीं दी? चंद्रबाबू ने भी दलितों को भला-बुरा कहा। चंद्रबाबू ने हमेशा लोगों में जाति-मतभेद पैदा किया है। नंदीगामा ने कहा कि चंद्रबाबू जैसे 100 लोग भी आंध्र प्रदेश सरकार के कल्याण कार्यों में अडचनें पैदा करते हैं तो कोई भी कार्य रूकनेवाला नहीं है। सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने लोगों के भरोसे को कायम रखा है।  

नंदीगामा सुरेश ने कहा कि हर्ष कुमार ने टीडीपी में शामिल होते समय चंद्रबाबू से मिन्नतें की। टीडीपी में शामिल होने के बाद चंद्रबाबू की तारीफ करने में लगे। उन्होंने कहा कि  चंद्रबाबू ने अंग्रेजी माध्यम का विरोध किया। हर्ष कुमार ने भी चंद्रबाबू का पक्ष लेते हुए अंग्रेजी माध्यम का विरोध किया। सांसद ने कहा कि सीएम जगन के नेतृत्व में बनी सरकार ने 30 लाख मकानों के पट्टे देने का निर्णय लिया है।  इस कार्य को असफल बनाने का चंद्रबाबू प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि चाहे कितनी भी अडचनें पैदा की जाए, वाईएसआरसीपी  दलितों को कल्याण और विकास का लाभ अवश्य पहुंचाएगी। 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top