संविदा कर्मचारियों को भी स्थाई कर्मचारियों की तरह समय पर मिले वेतन : वाईएस जगन

cm ys jagan review meetign on contract employees welfare in andhra pradesh - Sakshi Samachar

कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को समय पर वेतन

नौकरी गैरंटी का दिया गया भरोसा

अमरावती : मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने सोमवार को संविदा कर्मचारी (Contract Employees) की हालात पर समीक्षा बैठक की। समीक्षा बैठक में प्रदेश के मुख्य सचिव नीलम सहानी, वित्त विभाग के प्रधान सचिव रावत, जीएडी सर्विसेस सेक्रेटरी शशि भूषण, श्रम विभाग के सचिव उदयलक्ष्मी और आरोग्यश्री ट्रस्ट के सीईओ मल्लीकार्जुन ने भाग लिया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने अधिकारियों को आदेश दिया कि स्थायी कर्मचारियों की तरह ही संविदा कर्मचारियों के वेतन भी समय पर दिया जाए। साथ ही कहा कि स्थायी कर्मचारियों की तरह संविदा कर्मचारियों को भी नौकरी की गैरंटी दिये जाने के लिए आवश्यक कदम उठाये। इसके बारे में अध्ययन करके बाद संपूर्ण रिपोर्ट सरकार को सौंपे। सरकारी विभागों में कार्यरत संविदा कर्मचारियों की तरह विभिन्न सोसाइटी और विश्वविद्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों को भी ठीक वक्त पर वेतन दें।

इस दौरान अधिकारियों ने मु्ख्यमंत्री को प्रदेश में कार्यरत संविदा कर्मचारियों की हालात की जानकारी दी। उन्होंने सीएम जगन को बताया कि पिछली टीडीपी सरकार ने 54 हजार संविदा कर्मचारियों को नियुक्त किया था। मगर उनके कल्याण के लिए कुछ खास कार्य नहीं किया। जब से वाईएस जगन मोहन रेड्डी मुख्यमंत्री बने हैं, तब से यानी जुलाई 2019 प्रदेश में टाइम स्केल पद्धति को लागू किया गया है। इसके चलते सरकार के खजाने पर एक हजार करोड़ का भार पड़ा है।   

यह भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश में 'वाईएसआर चेयूता' के अंतर्गत योग्य महिलाओं को आर्थिक मदद

ऐसे बढ़ा वेतन

अधिकारियों ने सीएम जगन को यह भी बताया कि 31 मार्च 2017 में जो वेतन थे, जुलाई 2019 तक 88 से 95 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। जूनियर लेक्चर के वेतन 19,050 से बढ़कर 37,100 रुपये हो गई है। इसी तरह मल्टी पर्पस हेल्थ असिस्टेंट (पुरुष) के वेतन  14,860 से बढ़कर 22,290 रुपये की गई हैं। सेकंडरी ग्रेड टीचर्स के वेतन 10,900 से बढ़कर 21,230 रुपये हो गई हैं। स्कूल असिस्टेंट के वेतन भी 10,900 21, 230 रुपये की गई हैं।

Advertisement
Back to Top