सभी को मिले कल्याणकारी योजनाओं का लाभ : वाईएस जगन

YS Jagan Directs officials to Everyone should Get benefit from Welfare schemes - Sakshi Samachar

4 जून को वाईएसआर वाहन मित्रा योजना

10 जून को जगनन्ना चेदोडु

20 जून को वाईएसआर नेतन्ना नेस्तम

अमरावती : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा है कि सरकार की सभी योजनाओं का लाभ हर लाभार्थी तक पहुंचाना चाहिइ ताकि किसी भी योग्य व्यक्ति के साथ अन्याय नहीं हो।। उन्होंने शुक्रवार को राज्य में कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर मुख्यमंत्री कार्यालय में सीएमओ के अधिकारियों के साथ बैठक की। 

अधिकारियों ने सीएम को बताया कि अगर कोई योग्य आवेदक बचा है तो उन्हें योजनाओं के क्रियान्वयन शुरू होने के एक महीने के भीतर आवेदन करने को कहा गया है। इसपर मुख्यमंत्री ने ऐसे आवदनों की समयसीमा के भितर जांच करने और योग्य आवेदकों को योजनाओं का लाभ पहुंचने की व्यवस्था करने का आदेश दिया।

कोविड संकट को देखते हुए राज्य सरकार वाईएसआर वाहन मित्रा, जगनन्ना, चेदोडु, वाईएसआर नेतन्नी नेस्तम, वाईएसआर कापु नेस्तम जैसी योजनाओं को पहले ही शुरू कर चुकी है।  विभिन्न योजनाओं के लिए आवेदन करने हेतु एक महीने का वक्त दिया था। इन योजनाओं के लाभार्थियों की सूची में नहीं होने से परेशान लोगों को ग्राम और वार्ड सचिवालय पहुंच कर वहां आवेदन करने के लिए कहा गया था। बैठक के दौरान सीएम ने अधिकारियों से इस बाबत जानकारी हासिल की। 
सीएम ने अधिकारियों को सभी योग्य लोगों को योजनाओं का लाभ पहुंचना चाहिए और इसके लिए आवेदनों की जांच पड़ताल कर नकदी ट्रांसफर करने का आदेश दिया।

जून के  महीने  में कितनी योजनाएं

राज्य सरकार गत 4 जून को वाईएसआर वाहन मित्रा, 10 जून को जगनन्ना चेदोडु,  20 जून को वाईएसआर नेतन्ना नेस्तम और 24 जून को वाईएसआर कापु नेस्तम योजना शुरू कर चुकी है। वाहन मित्र योजना के जरिए चार महीने पहले, नेस्तम द्वारा छह महीने पहले ही लाभार्थियों को वित्तीय सहायता पहुंचेगी।

वाईएसआर नेतन्ना नेस्तम 

वाईएसआर नेतन्ना नेस्तम के तहत खुद का मग्गम होने पर हर बुनकर परिवार को सरकार 24  हजार रुपए की आर्थिक सहायता करेगी। गत दिसंबर के बाद मग्गम रखने वालों को भी इस योजना के अंतर्गत शामिल करने का सीएम जगन ने आदेश दिया है।
 

इसे  भी पढ़े : 

लोग पूछ रहे सवाल : एपी में कोरोना का इलाज आरोग्यश्री से संभव तो तेलंगाना में क्यों नहीं..?

Advertisement
Back to Top