TDP समर्थकों ने एक बार फिर की मूर्ति हटाने की कोशिश, 4 समर्थकों समेत 6 गिरफ्तार

TDP activist booked in srikakulam   - Sakshi Samachar

सीसीटीवी फुटेज खंगालकर पुलिस ने 6 आरोपियों को लिया हिरासत में

श्रीकाकुलम : टीडीपी के समर्थकों ने जिले के टेक्कली (Tekkali) निर्वाचन क्षेत्र के शिवालय मंदिर में मौजूद नंदी की मूर्ति को हटाकर अन्य जगह पर रखने का प्रयास किया। इस घटना को लेकर वीआरओ (VRO) की शिकायत पर पुलिस ने जांच की। पुलिस ने 22 आरोपियों में से 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों में टीडीपी के चार आरोपी शामिल हैं। 

विशाखापट्टणम रेंज डीआईजी कालीदास वेंकट रंगाराव ने  बताया कि लोगों में दंगा फैलाने के उद्देश्य से 14 जनवरी को टीडीपी के समर्थकों ने संताबोम्माली के पुरातन पालेश्वर स्वामी मंदिर में मौजूद नंदी की मूर्ति हटाई और अन्य जगह ले जाकर रखी। इस घटना को लेकर लोगों में विवाद बना रहा। ग्रामीणों की शिकायत पर पुलिस ने जांच शुरू की। 

बताया गया कि टीडीपी के समर्थक राजनीतिक लाभ के लिए असामाजिक गतिविधियों को अंजाम देने का प्रयास कर रहे हैं। आरोपी श्रीकाकुलम जिला, टेक्कली निर्वाचन क्षेत्र के शिवालय में मौजूद नंदी की मूर्ति हटाने का प्रयास कर रहे थे। मंदिर के नजदीक ही मौजूद तीन रास्तों के जंक्शन के निकट सीमेंट के चबूतरे पर रखने जा रहे थे। उनकी यह गतिविधियां सीसीटीवी कैमरे में कैद हुईं। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगालकर 22 में से 6 आरोपियों को हिरासत में लिया। 

इसे भी पढ़ें :

श्रीकाकुलम जिले में तोड़ी गई दिवंगत सीएम YSR की प्रतिमा, 2 सितंबर को लगाई गई थी मूर्ति

आपको बता दें कि विशाखापट्टणम रेंज डीआईजी कालीदास वेंकट रंगाराव ने कहा कि संताबोम्माली मंडल के पालेश्वर  स्वामी मंदिर में नंदी की मूर्ति हटाना गैरकानूनी है। असामाजिक तत्व इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर लोगों में दंगा फैलाना का प्रयास कर रहे हैं। घटना को लेकर वीआरओ ने 22 लोगों के खिलाफ शिकायत की थी। गिरफ्तार छह आरोपियों में चार आरोपी प्रतिपक्ष के समर्थक हैं। 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top