प्रकाशम जिले में सामने आए 8 नए पाजिटिव मामले, तीन शहरों में रिस्क जोन घोषित

Pola Bhaskar Talks In Press Meet Over Corona Positive Cases  - Sakshi Samachar

96 सैम्पलों की जांच करने पर 8 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण

मार्कापुरम, ओंगोल और इस्लामपेट से भेजे गये सैंपल्स की रपट आनी बाकी है

प्रकाशम : दिल्ली में आयोजित तब्लीग-ए-जमात में जिले से शामिल हुए लगभग 280 से 300 लोग वापस प्रकाशम जिला लौट चुके हैं। इनमें से 132 लोगों की पहचान हुई है और उनके सैंपल्स तेलंगाना और एपी के विभिन्न लैबों में भेजे गये हैं। 

जिलाधीश भास्कर के मुताबिक 96 सैम्पलों की जांच करने पर 8 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया।  जिस क्षेत्र से कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले पाये गये हैं, उस क्षेत्र में कंटोनमेंट टॉस्क फोर्स ने ऑपरेशन स्टार्ट कर दिया है और इसके लिए विशेष अधिकारियों की नियुक्ति की गई है।

उन्होंने कहा कि जिले के मार्कापुरम, ओंगोल और इस्लामपेट से भेजे गये सैंपल्स की रपट आनी बाकी है। रपट आने पर मामलों में और इजाफा होने की संभावना है। इन लोगों ने तीन रेलगाडियों में यात्रा की थी। जिलाधीश ने कहा कि जिले के कंदुकुरू, कनिगिरी और मार्कापुरम शहरों में रिस्क जोन घोषित किया गया है। 

कलेक्टर ने कहा कि जिले में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या बढ़ने की संभावना के चलते जिला क्षेत्र के ओंगोल के किम्स और संघ मित्रा जैसे चार प्रमुख सुपर स्पेशालिटी अस्पताल को सरकार ने अपने अधीन  में लिया। उन्होंने कहा कि दिल्ली जा कर वापस लौटे लोगों की जानकारी इकट्ठा की जा रही है।

इसे भी पढ़ें :

आंध्र में बायोमेट्रिक के बगैर होगा पेंशन वितरण, 1 अप्रैल से घर-घर पहुंचाएंगे वालेंटियर

जिलाधीश ने कहा कि सभी की पहचान कर चिकित्सा परीक्षण किया जा रहा है। उनके लिए डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों को रहने के लिए एक लॉज की व्यवस्था की गई है। जिले के 12 निर्वाचन क्षेत्रों में से हर एक निर्वाचन क्षेत्र में एक क्वारंटाइन वार्ड बनाया जा रहा है और हर एक क्वारंटाइन वार्ड के लिए चिकित्सा अधिकारी नियुक्त किया गया है और पुलिस, राजस्व और चिकित्सा विभागों के मंडल स्तरीय अधिकारी को-ऑर्डिनेशन करते हुये स्थिति की समय समय पर समीक्षा कर रहे हैं।

Advertisement
Back to Top