आंध्र में बायोमेट्रिक के बगैर होगा पेंशन वितरण, 1 अप्रैल से घर-घर पहुंचाएंगे वालेंटियर

Pension Distributing Without Biometric in AP - Sakshi Samachar

प्रकाशम जिले में 4,11,207 पेंशनधारक हैं

सरकार ने 98,27,92,750 रुपये की राशि जारी की है

ओंगोल : आंध्र प्रदेश सरकार ने वाईएसआर पेंशन कानुका की राशि के वितरण से जुड़ी पाबंदियां हटा दी है। कोरोना वायरस के कारण इस बार बिना बायोमेट्रिक और हस्ताक्षर के लाभार्थियों में पेंशन वितरित किया जायेगा। सरकार द्वारा जारी सर्कुलर के मुताबिक पेंशन राशि दो दिन पहले जारी की जा चुकी है। जिले में कुल 4,11,207 पेंशन धारक हैं और कैटागिरी के मुताबिक उन्हें पेंशन दिया जाता है।

सरकार  98,27,92,750 रुपये की राशि जारी कर चुकी है और जिलाधीश उसे ड्रा भी कर चुके हैं। अब यह राशि राशि ग्राम वालेंटियरों को दी जा रही है। 
पेंशन लाभार्थियों में वृद्ध, विधवा, हथकरघा मजदूर, सेंधी ताशक, मछुआरे, अकेली महिला, चमार, एचआईवी पीड़ित शामिल हैं। 
इस कैटागिरी के लोगों को हर महीने 2,250 रुपये का पेंशन मिल रहा है। डफली कलाकार, दिव्यांग और ट्रांसजेंडर को 3,000 रुपये दिये जा रहे हैं। किडनी पीड़ितों को वाईएसआरसीपी के सत्तारूढ होने के बाद पेंशन राशि 3,500 से बढ़ाकर 10,000 रुपये दी जा रही है।
 

इसे भी पढ़ें : 

CM जगन ने अधिकारियों को दिए निर्देश, रोजमर्रा की चीजें और राशन की आपूर्ति में न आए कोई परेशानी

 इसके अलावा अभय हस्तम के अंतर्गत 7,752 रुपये पेंशन मिल रहा है। इन सभी को 1 अप्रैल से पेंशन देने का सरकार ने आदेश दिया है। बैंक में जमा पेंशन राशि लाभार्थियों को आसानी से मिल सके, इसके लिए जिलाधीशों ने बैंक अधिकारियों को आदेश भी दिये हैं। ग्राम वालेंटियर पहले बैंक से यह राशि ड्रा करेंगे और बाद में उसे लाभार्थियों में बांटेंगे।

Advertisement
Back to Top