कोरोना वायरस : CM जगन मोहन रेड्डी की राह पर आगे बढ़ा केरल और ब्रिटेन

 Kerala Adopt Grama Volunteer System From AP - Sakshi Samachar

ग्राम वालेंटियर प्रणाली की राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा

ब्रिटेन में 2 लाख 80 हजार ग्राम वालेंटियर पदों पर भर्ती को लेकर कार्यप्रणाली

तिरुवंतपुरम : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की ग्राम वालेंटियर प्रणाली की राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा की जा रही है। चुनाव में लोगों को दिये गये आश्वासन के मुताबिक सीएम जगन ने वाईएसआरपीसी के सत्तारूढ होने के बाद ग्राम वालेंटियर प्रणाली  को अमल में लाया है। इसकी सफलता के लिए सीएम ने चार लाख से भी अधिक युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया है।

ग्राम स्तर पर सरकार और लोगों के बीच पूल बन कर ग्राम वालेंटियर कार्य कर रहे हैं। उनके कार्यों में किसी प्रकार की धांधली नहीं बरती जा रही है। बताया जा रहा है कि विश्व स्तर पर खौफ फैलाने वाले कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर ग्राम वालेंटियर सराहनीय कार्य कर रहे हैं। 

सरकार के आदेश पर राज्य में लॉकडाउन अमल में है। इस दौरान ग्राम वालेंटियर लोगों को कोरोना वायरस के अटैक के प्रति बचाव को लेकर जागरूक कर रहे हैं। साथ ही सरकार की सहायता राशि लोगों को घर तक पहुंचा रहे हैं। इस व्यवस्था की राष्ट्रीय स्तर पर तारीफ हो रही है। इस व्यवस्था की सफलता को देखते हुये केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने अपने राज्य में भी इसे अमल में लाने का निर्णय लिया है। 

इसे भी पढ़ें :

विजयसाई रेड्डी का चंद्रबाबू पर तीखा प्रहार, कहा- एक वालेंटियर के बराबर नहीं है MLC लोकेश

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की अध्यक्षता में अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की गई। बैठक में कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर ग्राम स्तर पर लोगों को सेवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से 2 लाख 36 हजार वालेंटियरों की नियुक्ति करने का निर्णय लिया गया।

आंध्र प्रदेश की ग्राम वालेंटियर व्यवस्था की विश्व स्तर पर प्रशंसा की जा रही है। इस क्रम में ब्रिटन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आगे हैं। ब्रिटेन में अभी तक 2 लाख 80 हजार ग्राम वालेंटियर पदों पर भर्ती को लेकर कार्यप्रणाली बनाई गई है। ग्राम वालेंटियरों का उपयोग लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक करने के लिए होगा। 

Advertisement
Back to Top