विशाखापट्टणम: केमिकल फैक्ट्री में भीषण आग, 1 की मौत व 1 घायल

Fire broke out in Chemical factory at Visakhapatnam - Sakshi Samachar

विशाखापट्टणम की केमिकल फैक्ट्री में भीषण आग

घायल व्यक्ति को गाजुवाका के अस्पताल में भर्ती कराया गया

विशाखापट्टणम में तीन महीनों में तीन फैक्ट्रियों में हादसे

विशाखापट्टणम: आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टणम में फार्मा कंपनी में बीती देर रात भीषण आग लग गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आग लगने के साथ कई धमाकों की आवाजें भी सुनी गई। घटना में झुलसने के कारण एक शख्स की मौत हो गई है। जबकि एक अन्य घायल हो गया हैं

आग की खबर मिलते ही दमकल की कई गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। गाजुवाका के अस्पताल में घायलों को भर्ती कराया गया है। अभी भी फैक्ट्री की कई यूनिट्स में आग सुलग रही है। साथ ही राहत और बचाव का काम जारी है। 

घटना के कुछ ही देर बार विशाखापट्टणम के पुलिस आलाधिकारियों का दल मौके पर पहुंच गया था। बिनी किसी देरी के घायल व्यक्ति को आनन फानन में अस्पताल पहुंचाया गया। आग की उठती लपटें काफी दूर से ही देखी गई। जिससे इसकी भयावहता को समझा जा सकता है। 

डरे सहमे लोग घरों से बाहर निकले

फैक्ट्री में हो रहे धमाकों की आवाजें सुनकर कई लोग डरे सहमे घरों से बाहर निकल आए। डीसीपी की ओर से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक घटना के वक्त 6 लोग ही फैक्ट्री में मौजूद थे। अगर कर्मियों की संख्या अधिक होती तो बड़े जान माल के नुकसान से इनकार नहीं किया जा सकता। 

घटना में स्थानीय पुलिस की तत्परता की लोग सराहना कर रहे हैं। डीसीपी ने बताया कि आग सबसे पहले एक रियेक्टर से निकली। जिसके बाद आग फैलती हुई फैक्ट्री के बाकी हिस्सों को अपनी चपेट में ले लिया। 

विशाखापट्टनम के सीपी आरके मीणा खुद रात भर सो नहीं सके। लगातार वो स्थानीय पुलिस प्रशासन के संपर्क में रहे। आग पर अभी भी पूरी तरह काबू नहीं पाया जा सका है। पूरे फैक्ट्री परिसर में केमिकल बिखरा है। 

LG पॉलीमर्स में हो चुकी है गैस रिसाव की घटना 

इससे पहले विशाखापट्टणम के LG पॉलीमर्स फार्मा कंपनी में गैस रिसाव की घटना हो चुकी है। जिसमें कई लोगों की जानें भी गई थी। गैस रिसाव की दो वारदातों के अलावा ये फार्मा फैक्ट्री में हादसे की तीसरी घटना है। लगातार हो रही दुर्घटनाओं को लेकर सरकार सख्त है। उम्मीद है इस हादसे को लेकर भी फैक्ट्री सुरक्षा मानकों की जांच होगी। अगर किसी चूक के चलते दुर्घटना घटी है तो कार्रवाई भी तय मानी जा रही है। 

तीन महीने में तीन बड़ी घटनाएं 

विशाखापट्टनम में फार्मा कंपनियों में बीते तीन महीनों में तीन बड़े हादसे हुए हैं।

7 मई: LG Polymer कंपनी में गैस लीक

30 जून: फार्मा कंपनी में गैस लीक की घटना

14 जुलाई: फार्मा कंपनी में रिएक्शन से बड़े धमाके

दुनियाभर में भारतीय फार्मा कंपनियों की 1/3 हिस्सेदारी है। वहीं लगातार हो रहे हादसों को लेकर इस सेक्टर में सुरक्षा को लेकर आशंकाएं बढ़ गई हैं। खासकर सुरक्षा मानकों के पालन नहीं किये जाने को लेकर लोग उंगली उठा रहे हैं। कुल मिलाकर प्रबंधन पर ही घटना की पहली जिम्मेदारी बनती है। मामले में आंध्र प्रदेश सरकार पहले भी कड़े फैसले ले चुकी है, ताजा घटना में भी राज्य मशीनरी सख्त जांच करेगी, ऐसी उम्मीद की जा रही है। 

Advertisement
Back to Top