सोमवार से अन्य सात जगहों पर कोरोना वायरस की जांच

 Coronavirus 7 More Testing Labs Available In AP - Sakshi Samachar

एपी में कुल 161 कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले दर्ज

अभी तक 1.28 करोड़ परिवार के सदस्यों का सर्वेक्षण

अमरावती : राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने शुक्रवार को समीक्षा की। आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले, लॉकडाउन, राज्य में वालेंटियर, एएनएम, आशा कार्यकर्ता द्वारा जारी घर-घर सर्वेक्षण, लोगों का सहयोग, जीवनावश्यक चीजों की कीमतें, क्वारंटाइन, वृद्धाश्रम, शिशु सदन को मिल रहे मेन्यू पर चर्चा हुई। 

मंत्री आल्ला नानी ने कहा कि आंध्र प्रदेश में कुल 161 कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले दर्ज हुए हैं। इन 161 मामलों में 140 पीड़ित दिल्ली में तबलीगी जमात में शामिल हो कर वापस लौटे हैं। दिल्ली से आंध्र प्रदेश लौटने वाले कुल 946 लोग हैं। 946 लोगों में से 881 लोगों की चिकित्सा जांच करने पर 108 मामले पॉजिटिव पाये गये। जमात में शामिल हो कर वापस लौटे लोगों के कॉन्टैक्ट में आये 613 लोगों की चिकित्सा जांच करने पर 32 लोग पॉजिटिव पाये गये। 

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने घर-घर जा कर सर्वेक्षण करने के संदर्भ में जानकारी ली। अभी तक 1.28 करोड़ परिवार के सदस्यों का सर्वेक्षण किया गया। कोरोना वायरस के टेस्टिंग लैब बढ़ाये गये। गुंटूर और कड़पा में भी कोरोना टेस्टिंग लैब बनाये जाएंगे। सोमवार से सात लैब में कोरोना वायरस की जांच होगी। आवश्यकता होने पर निजी लैब का भी उपयोग करने का सीएम ने आदेश दिया।

मंत्री ने कहा कि राशन दुकान और रैतु बाजार के निकट सामाजिक दूरी बनाये रखें। हर एक दुकान के निकट बड़े साइज में भावफलक रखें। उन्होंने कहा कि शेल्टर में रहने वाले सभी आवश्यक सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। हर पिछड़े परिवार को एक हजार रुपये सहायता दी जा रही है। राशन कार्ड नहीं रहने पर भी योग्यता होने पर एक हजार रुपये दिये जाएंगे।

सीएम ने कृषि उत्पाद को समर्थन मूल्य देने को लेकर कार्रवाई करने का आदेश दिया। मंत्री मोपी देवी वेंकट रमणा ने कहा कि किसानों का नुकसान न हो, इसलिए आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की रोकथाम को लेकर कार्रवाई की जा रही है। 

इसे भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश में शुरू हुआ मरकज का कहर, बढ़ते पॉजिटिव के साथ शुरू हुआ मौत का सिलसिला

सीएम कैम्प कार्यालय में आयोजित समीक्षा में मंत्री बोत्सा सत्यनारायण, आल्ला नानी, मोपी देवी वेंकट रमणा, आल्ला नानी, सरकार की मुख्य सचिव नीलम साहानी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के विशेष मुख्य सचिव जवाहर रेड्डी, डीजीपी गौतम सवांग, अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे। तत्पश्चात स्वास्थ मंत्री आल्ला नानी ने मीडिया को जानकारी दी। 

Advertisement
Back to Top