CMRF के नकली चेक मामले की जांच करेगी एसीबी, तीनों राज्यों में जाएगी जांच टीमें

CM YS Jagan Orders ACB To enquiry in CMRF Duplicate Cheques  - Sakshi Samachar

एसीबी डीजीपी को राजस्व विभाग के मुख्य सचिव का पत्र

सीएमआरएफ राशि के भुगतान पर अस्थाई रोक

अमरावती : आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने मुख्यमंत्री राहत कोष (सीएमआरएफ) में सेंध लगाने की बड़ी साजिश के तहत नकली चेक जारी करने वाले गिरोह के साथ उसके पीछे छिपी ताकतों को ढूंढ निकालने का निर्णय लिया है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएम ने एसीबी को इस मामले का पर्दाफाश करने का आदेश दिया है। नकली हस्ताक्षर, स्टैंप के साथ नकली चेक जारी करने वाले गिरोह के सदस्यों के साथ उसके पीछे छिपे सूत्रधारों को भी पकड़ने को कहा है।

राजस्व विभाग की मुख्य सचिव वी. उषारानी ने इस मामले की गहन जांच कर दोषियों को पकड़ने की अपील करते हुए एसीबी के डायरेक्टर जनरल पीएसआर आंजनेयलू को एक पत्र लिखा है। दूसरी तरफ, वेलगपूड़ी स्थित अस्थाई सचिवालय स्थित भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में मौजूद सीएमआरएफ का एकाउंट हैक होने के संदेह की वजह से 
बैंक मैनेजरों को भुगतान पर अस्थाई रोक लगाने को कहा है। वी. उषारानी ने कहा कि बैंक अधिकारियों की सतर्कता की वजह से राशि जारी नहीं हो पाई। उन्होंने बताया कि साजिश काफी बड़ी होने के कारण इसकी गहन जांच कर दोषियों का पता लगाने का सीएम ने आदेश दिया है।

तीन राज्यों में अलग-अलग नाम से....

आंध्र प्रदेश सीएमआरएफ की राशि चुराने के लिए एक साथ नई दिल्ली, कोलकाता और कर्नाटक से अलग-अलग कंपनियों के नाम पर नकली चेक जारी करने के पीछे किसी बड़े गिरोह का हाथ होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। इन चेक्स को क्या गिरोह ने प्रिंट करवाया था या इसमें बैंक या सीएमआरएफ विभाग से जुड़े किसी व्यक्ति ने सहयोग दिया है, इसका पता लगाने की कोशिश जारी है। 
अद्वैता वीके हॉलो बॉक्स एंड इंटर लॉक्स, मल्लाबपुर पीपुल रुरल डेवलपमेंट सोसायटी, शर्मा फोर्जिंग के नाम पर ये नकली चेक जारी किए गए हैं।

सुनियोजित प्लान के साथ ही....

जांच में जुटे उच्चाधिकारियों के मुताबिक सीएमआरएफ की राशि चुराने की बड़ी साजिश के लिए गिरोह ने पक्की योजना बनाई थी। अगल-अलग राज्यों में अलग-अलग कंपनियों के नाम पर करोड़ों रुपए चुराने के लिए चेक देने का मतलब उक्त कंपनियां केवल बोर्ड तक सीमित रह सकती हैं। जांच के तहत एसीबी की टीमें तीनों जगह पहुंच कर जांच करने वाली हैं।
तुल्लूरु में मामला दर्ज

सीएमआरएफ चेक के नाम पर बारी नकदी निकासी के लिए अज्ञात व्यक्तियों द्वारा रची गई साजिश के खिलाफ रविवार को गुंटूर जिले के तुल्लूरु थाने में मामला दर्ज हुआ है। सचिवालय राजस्व विभाग के सहायक सचिव पी. मुरलीकृष्णा की शिकायत पर तुल्लूरु-1 के सीआई धर्मेंद्र बाबू ने मामला दर्ज कर लिया है। सरकारी रिकार्ड्स के मुताबिक 16 हजार, 45 हजार और 45 हजार रुपए के हिसाब से तीन व्यक्तियों को जारी किए चेक के स्थान पर 117.15 करोड़ रुपए बैंक से निकालने के लिए कुछ व्यक्तियों ने नकली चेक तैयार कर इस साजिश को अंजाम देने की कोशिश की है।

इसे भी पढ़ें : 

एपी सीएम रिलीफ फंड से 117.5 करोड़ चुराने की कोशिश, बैंककर्मियों की सतर्कता से जालसाजी का पर्दाफाश

Related Tweets
Advertisement
Back to Top