मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी आज करेंगे राशन की होम डिलिवरी वाहनों का शुभारंभ

 cm ys jagan home delivery vehicle will launch today - Sakshi Samachar

2,500 राशन डोर डिलीवरी वाहनों का शुभारंभ

1 फरवरी से गुणवत्ता वाले राशन चावल के वितरण

अमरावती : मुख्यमंत्री के वाईएस जगन मोहन रेड्डी गुरुवार को विजयवाड़ा के बेंज सर्किल में कृष्णा, गुंटूर और पश्चिमी गोदावरी जिलों से संबंधित 2,500 डोर डिलीवरी वाहनों का शुभारंभ सीएम जगन करेंगे। प्रदेश में 1 फरवरी से 9,260 वाहनों के जरिए गुणवत्ता वाले राशन चावल को वितरण किया जाएगा। आंध्र प्रदेश सरकार देश में पहली बार घर तक राशन पहुंचाने के सार्वजनिक वितरण प्रणाली शुरू कर रही है। 

वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने पदयात्रा के दौरान दिये गये आश्वासनों को पूरा करने और कल्याणकारी योजनाओं को हर घर तक पहुंचाने का एक नया अभियान शुरू किया है।यह प्रदेश में पहली बार हर मकान तक पहुंचाने के सार्वजनिक वितरण प्रणाली शुरू कर रहे हैं। 

इसी क्रम में वाईएस जगन गुरुवार को विजयवाड़ा के बेंज सर्किल में कृष्णा, गुंटूर और पश्चिमी गोदावरी जिलों से संबंधित 2,500 राशन डोर डिलीवरी वाहनों का शुभारंभ सीएम जगन करेंगे। आंध्र प्रदेश में एक फरवरी से गुणवत्ता वाले राशन चावल के वितरण किये जाएंगे।

बेहतर चावल....

सार्वजनिक वितरण प्रणाली में अब तक कार्डधारकों को आपूर्ति किए जा रहे टूटे (खुद्दी) चावल और बेरंग चावल की मात्रा आधिक होने के कारण ज्यादातर कार्डधारक उनका सेवन नहीं कर रहे हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए जगन सरकार ने राशन कार्डधारक चावल पसंद से खा सके, इसके सोना मसूरी चावल की आपूर्ति करने का निर्णय लिया है। 

यह भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश : PDS सिस्टम में क्रांतिकारी बदलाव, राशन की होम डिलिवरी के लिए 9,260 वाहनों का शुभारंभ

                                      कृष्णा जिले के मुस्ताबाद स्थित टाटा गैरेज में तैयार वाहन

चावल की गुणवत्ता को लेकर लोगों में व्याप्त नाराजगी को दूर करने के उद्देश्य से नागरिक आपूर्ति विभाग पहली बार सोना मसूरी चावल की आपूर्ति करने जा रहा है। इसके लिए चावल संग्रहण प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करने का निर्णय लिया गया है। किसानों से धान खरीदने के दौरान सोना मसूरी चावल को प्राथमिकता देकर मिलिंग के वक्त खुद्दी और टूटे चावल  की मात्रा कम रहने वाले सोना मसूरी सोर्टेक्स चावल का संग्रहण किया जाएगा।

मोबाइल वाहन.....

चावल सहित अन्य रोजमर्रा की वस्तुएं कार्डधारकों के घर तक पहुंचाने के लिए 539 करोड़ रुपए की लागत से 9,260 मोबाइल वाहन खरीदे गए हैं। सरकार ने ये वाहन बेरोजगार युवाओं को रोजगार गारंटी योजना के तहत विभिन्न निगमों के जरिए 60 फीसदी सब्सिडी पर मुहैया कराया है और एक वाहन की कीमत 5,81,000 रुपए हैं, जिसमें 60 फीसदी मतलब हर वाहन पर 3,48,600 रुपए की सब्सिडी विभिन्न कल्याण निगमों से मुहैया कराई जाएगी। 

Advertisement
Back to Top