गरीबी हटाने का मूलमंत्र है शिक्षा : सीएम जगन

 cm jagan says education is key to remove poverty  - Sakshi Samachar

96 प्रतिशत अभिभावकों का अंग्रेजी माध्यम को समर्थन 

शैक्षणिक वर्ष में अमल में आयेगी शिक्षा नीति

अमरावती : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी शिक्षा क्षेत्र के विकास में आ रही अड़चनों को दूर करते आ रहे हैं। हर समस्या का समाधान करते हुये आंध्र प्रदेश सरकार आगे बढ़ रही है। राज्य में अंग्रेजी माध्यम को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार ने अंग्रेजी माध्यम शुरू करने का प्रस्ताव रखा। इसे विधानसभा में मंजूर भी किया गया लेकिन प्रतिपक्ष ने अड़चन पैदा करते हुये अदालत का दरवाजा खटखटाया। इसके वाबजूद भी सरकार ने हार नहीं मानी। सरकार के पक्ष में निर्णय आने  की पूरी संभावना है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाई करवाने के संदर्भ में अभिभावकों से राय मांगी गई थी जिसमें 96 प्रतिशत अभिभावकों ने सुझाव दिया कि पहली से लेकर छठीं कक्षा तक अंग्रेजी माध्यम लागू करने का फैसला सही है। पैरेंट्स कमेटी ने भी इसे समर्थन दिया। बावजूद इसके प्रतिपक्ष असेंबली के बाहर बात का बतंगड बना रहे हैं।

लगभग 40 लाख छात्रों के अभिभावकों ने अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा उपलब्ध कराने पर जोर दिया। इस बीच, एससीईआरटी ने सुझाव दिया कि हर मंडल क्षेत्र में तेलुगु माध्यम का एक स्कूल होना काफी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें हर हालत में शिक्षा क्षेत्र में विकास करना है। इस दौरान चाहे कितनी भी परेशानियां आयें, उनका समाधान करना है। 

सीएम ने कहा कि पहली से छठीं कक्षा तक अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाई शुरू करने के संदर्भ में शिक्षकों और छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। शीघ्र ही बोर्ड परीक्षाएं होंगी। उन्होंने याद दिलाया कि प्रजा संकल्प यात्रा के दौरान अभिभावकों और छात्रों से रू-ब-रू होते हुये अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा उपलब्ध कराने को लेकर उनकी राय ली गई थी। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में  छात्रों को शैक्षणिक वर्ष जून में शुरू होने के बाद अक्टूबर तक किताबें उपलब्ध नहीं होती थीं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा क्षेत्र में अभिभावकों और छात्रों की समस्याओं को समझते हुये सरकार ने योजनाओं को अमल में लाना शुरू कर दिया है। छात्रों को कौशल विकास के मद्देनजर शिक्षा उपलब्ध कराने पर सरकार जोर दे रही है। अम्मा वोडी योजना के अंतर्गत छात्र के माता के  बैंक खाते में 15,000 रुपये की राशि जमा की जायेगी। इस योजना से माताओं को अपने बच्चों को स्कूल भेजने पर प्रोत्साहित किया जा रहा है। साथ ही स्कूल में छात्रों की उपस्थिति भी बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें :

किसान खुश रहने पर ही राज्य में छाएगी खुशहाली : वाईएस जगन

सीएम जगन ने कहा कि जगनन्ना विद्या कानुका के अंतर्गत छात्रों को शैक्षणिक वर्ष के शुरुआत में किट दिया जायेगा। इस किट में दो जोडी पोशाक, बेल्ट, शूज, सॉक्स, किताबें और नोटबुक्स तथा स्कूल बैग होंगे। स्कूल में काम करने वाली आया का वेतन प्रति माह एक हजार से बढ़ा कर 3,000 रुपये की जा रही है। 

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि वाईएसआर कंटी वेलुगु के अंतर्गत 1.58 लाख छात्रों में से 1.29 छात्रों को नेत्र की जांच के बाद मुफ्त चश्में दिये गये। नाडू नेडू के अंतर्गत स्कूलों का बुनियादी विकास किया जा रहा है। छात्रों को स्कूलों में मौलिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। शैक्षणिक वर्ष शुरू होते ही छात्रों को सभी सुविधाएं उपलब्ध होने लगेंगी। 

Advertisement
Back to Top