CM जगन ने MSME पैकेज के पहले चरण में 450 करोड़ रुपये का चेक जारी किया

cm jagan releasing 450 crore rupees  in first phase of MSME package - Sakshi Samachar

एमएसएमई की 188 करोड़ रुपये माफ कर दिये जायेंगे

राज्य सरकार ने लगभग 360 एमएसएमई चीजों की पहचान की

अमरावती : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने राज्य विकास को प्राथमकिता देते हुये एमएसएमई की स्थिति और मजबूतत बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने 1,110 करोड़ रुपये की लागत से रि-स्टार्ट पैकेज को बढ़ावा दिया है। इस पेकेज के अंतर्गत पहले चरण में 450 करोड़ रुपये का चेक जारी किया है। इस पैकेज का लाभ लगभग राज्य के 98,000 करोड यूनिटों को लाभ मिलेगा और लगभग 10 लाख से भी अधिक लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। 

मुख्यमंत्री ने जिलाधिशों के साथ आयोजित समीक्षा के दौरान एमएसएमई की वर्तमान स्थिति और लंबित इन्सेंटिव को लेकर चर्चा की। उन्होंने अप्रैल, मई और जून के दौरान एमएसएमई की 188 करोड़ रुपये की राशि माफ कर दी जायेगी और कैपिटल के रूप में 200 करोड़ रुपये कम ब्याज दर पर उपलब्ध कराने का निर्णय लिया। सीएम ने याद दिलाया कि बीती सरकार ने लगभग 828 करोड़ रुपयों की राशि का इन्सेंटिव के तौर वर्ष 2014-2019 के दौरान भुगतान नहीं किया था। 

आपातकाल के दौरान एमएसएमई की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के सरकार ने पैकेज देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि एमएसएमई की आर्थिक स्थिति मजबूत होने पर स्थानीय तौर पर लोगों को रोजगार मिलेगा। राज्य सरकार ने लगभग 360 चीजों की पहचान की है, जो एमएसएमई से खरीदे जा सकते हैं और इसका भुगतान 45 दिनों के भीतर किया जायेगा। कुल खरीदी के 25 प्रतिशत खरीदी माइक्रो और छोटे उद्यमों से की जायेगी। इन उद्यमों में चार प्रतिशत एससी और एसटी तथा तीन प्रतिशत महिलाएं शामिल होंगी। 

इसे भी पढ़ें : 

सीएम जगन ने पुलिवेंदुला में नया मेडिकल कॉलेज स्थापित किये जाने के आदेश दिये

एमएसएमई में 72,531 माइक्रो उपक्रम, 24,252 छोटे और 645 मध्यम उपक्रम होंगे

मुख्यमंत्री जगन ने कहा कि राज्य में कुल 97,428 एमएसएमई यूनिटों की स्थापना की गई थी और लगभग 10 लाख लोगों को रोजगार मिल रहा था। एमएसएमई में 72,531 माइक्रो उपक्रम, 24,252 छोटे और 645 मध्यम उपक्रम होंगे। सरकार इन उपक्रमों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 200 करोड़ रुपये कैपिटल के तौर पर उपलब्ध करा रही है। इसे एसआईडीबीआई के साथ भागीदारी करते हुये कम ब्याज दर पर उपलब्ध किया जायेगा। 

Advertisement
Back to Top