श्रीकाकुलम में पहली बार मिले कोरोना मरीज, सैच्युरेशन लेवल पर पैनी नजर

AP Health Secretary Jawahar Reddy Press Meet On Coronavirus  - Sakshi Samachar

52 मामले पुराने क्लस्टर से संबंधित

सैच्युरेशन लेवल पर विशेष नजर

डायलिसिस के मरीज

ताड़ेपल्ली : आंध्र प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के विशेष मुख्य सचिव जवाहर रेड्डी ने कहा कि हर 10 लाख लोगों में 1,147 लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट किया जा रहा है। अब तक टेस्ट में 60, 250 लोगों की रपट निगेटिव आई है। उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों का प्रतिशत अन्य राज्यों के मुकाबले कम है। शनिवार को कोरोना वायरस के 61 नये मामले दर्ज किये गये। इनमें 52 मामले पुराने क्लस्टर से संबंधित हैं। 

जवाहर रेड्डी ने बताया कि श्रीकाकुलम जिले के पातापटनम में 3 कोरोना संक्रमित मामले पाये गये हैं। अब तक कोरोना के संक्रमण से 171 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है। शरीर में सैच्युरेशन लेवल के कम होने पर विशेष नजर रखी जा रही है। समय समय पर ऑक्सिजन लेवल सैच्युरेशन लेवल की जांच कर जरूरत होने पर कोविड-19 अस्पताल भेजा जा रहा है। 

स्वास्थ्य विभाग के विशेष मुख्य सचिव ने बताया कि कोविड-19 अस्पताल में 1174 विशेषज्ञों को नियुक्त किया गया है। जिन क्षेत्रों में कोरोना के मामले अधिक हैं, उन डॉक्टरों को वहां भेज जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान डायलिसिस के मरीजों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने पर ध्यान दिया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें : 

आंध्र में 'YSR टेलीमेडिसिन' स्थायी रूप से रहेगी जारी, विलेज क्लिनिक की होगी अहम भूमिका

जवाहर रेड्डी ने कहा कि राज्य में फिलहाल 718 डायलिसिस मरीज हैं। उन सभी को नजदीकी सरकारी या निजी अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रेड जोन और कंटेनमेंट क्लस्टर में किसी को श्वास लेने में परेशानी होती है तो यथाशीघ्र 104 पर फोन कर जानकारी दें। 

Advertisement
Back to Top