AP विधानसभा के शीतकालीन सत्र का चौथा दिन : दिशा कानून को मिले 4 राष्ट्रीय अवार्ड

AP Assembly Winter Session Day 4 Updates  - Sakshi Samachar

अमरावती : आंध्र प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र  के चौथे दिन की कार्यवाही शुरू हो गई है। आंध्र प्रदेश इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी अमेंडमेंट बिल पर चर्चा  के लिए स्पीकर तम्मीनेनी अनुमति ने अनुमति दी है। मंत्री बालीनेनी श्रीनिवास रेड्डी ने चर्चा शुरू की। मंत्री के भाषण के बाद बिल सदन में पारित हुआ।

लैंड राइट्स मैनेजमेंट बिल पारित

उपमुख्यमंत्री धर्माना कृष्णदास ने बताया कि भूमि प्रबंधनों को स्थाई हक दिलाने के उद्देश्य से ही लैंड टाइटलिंग बिल सदन में पेश किया गया है।  इस बिल से भूमि विवादों को तत्काल सुलझाने मेम मदद मिलेगी।विधायक करणम धर्मश्री सामीनेनी उदयभानू ने कहा कि राजस्व कानून में संशोधन कर तैयार इस बिल से भूमि विवादों को सुलझाया जाएगा। चर्चा के बाद एपी भूमि अधिकार प्रबंधन बिल विधानसभा में पारित हुआ। मंत्री बोत्सा सत्यनारायण द्वारा पेश किए गए एपी म्यूनिसिपल लॉ सेकेंड अमेंडमेंट बिल चर्चा के बाद पारित हुआ।

टीडीपी सदस्यों का हंगामा

दिशा कानून संशोधन बिल पारित होने के दौरान टीडीपी सदस्यों ने सदन में जमकर शोर शराबा किया। उन्होंने बिल पर बोलने के लिए अनुमति देने की जिद्द करते हुए सदन की कार्यवाही में बाधा डालने की कोशिश की। इसपर स्पीकर ने कहा कि कौन-कौन बात करेंगे, उनके नाम की सूची सौंपे बिना बीच में बोलने की अनुमति मांगने सदन की परंपरा के खिलाफ है। मंत्री बुग्गना राजेंद्रनाथ रेड्डी, आदिमलुपु सुरेश ने टीडीपी सदस्यों के रवैया को अनुचित करार दिया। टीडीपी सदस्यों के नारेबाजी के बीच उपमुख्यमंत्री धर्माना कृष्णदास ने लैंड टाइटलिंग बिल को विधानसभा में पेश किया।
इससे टीडीपी के सदस्य कुछ देर तक हंगामा करते रहे और बाद में बाहर चले गए।

दिशा कानून को 4 राष्ट्रीय अवार्ड : सुचरिता 
इससे पहले बने दिशा कानून में संशोधन कर ताजा बिल विधानसभा में पेश किया गया। संशोधन बिल पर चर्चा की शुरूआत करते हुए गृहमंत्री मेकतोटी सुचरिता ने कहा कि महिलाओं व बच्चों पर होने वाले हमलों के नियंत्रण के लिए दिशा कानून लाया गया है। इसके लिए राज्यभर में 18 पुलिस स्टेशन स्थापित किए जाने की जानकारी देते हुए मंत्री ने बताया कि जांच में तेजी के लिए डीएसपी स्तर के अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। तिरुपति, मंगलगिरी और विशाखापट्टणम में फोरेंसिक लैब मौजूद होने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि दिशा कानून को राष्ट्रीय स्तर पर 4 अवार्ड मिले हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि दिशा कानून के आने से पीड़ितों को जल्द से जल्द न्याय मिलेगा। उन्होंने बताया कि दिशा कानून के आने के बाद से अब तक 3 लोगों को फांसी की सुजा सनाई गई है और लाखों लोग दिशा ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं।

बाद में दिशा कानून पर चर्चा शुरू हुई। कैश ट्रांसफर और कोरोना नियंत्रण पर लघू चर्चा होनी है।इस बीच, मीडिया, बीसी, एससी, एसटी, अल्पसंख्यकों पर हमले की रोकथाम की मांग करते हुए चंद्रबाबू नायडू, टीडीपी विधायक और MLC रैली के रूप में विधानसभा पहुंचे।

गुरुवार को एससी, एसटी, बीसी, अल्पसंख्यक कल्याण योजनआों पर विधानसभा में चर्चा होने वाली है। विधान परिषद में आज 9 बिलों पर चर्चा होनी है। पोलावरम, कर्मचारियों के कल्याण और कानून-व्यवस्था पर भी विधान परिषद में चर्चा होगी।
 

Related Tweets
Advertisement
Back to Top