अंधविश्वास के चलते किया प्रयोग, परिवार के 8 सदस्य हुये अस्वस्थ

  8 family members become unwell due To Blind Faith - Sakshi Samachar

धतूरे का फल डूबो कर पानी पिया

परिवार के 8 सदस्य अस्वस्थ

चित्तूर : बैरेड्डीपल्ली मंडल में गड्डूरू पंचायत के आलापल्ली गांव में दो परिवार के सदस्यों ने सोशल मीडिया पर देख कर प्रयोग किया। यह प्रयोग उनकी जान पर बन आया। सोशल मीडिया पर देख कर काले धतूरे (नल्ला उम्मेता) का फल को पानी में डूबोया और पानी पिया। 

काला धतूरा मिला हुआ पानी पीने से कुछ देर बाद परिवार के सदस्यों ने उल्टियां कर ली। उनके बेहोश होने पर गांव वालों ने108 से उन्हें अस्पताल में भर्ती किया। डॉक्टर की सलाह पर परिवार के 8 सदस्यों को पलमनेरू के सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया। फिलहाल डॉक्टर उन्हें चिकित्सा उपलब्ध करा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें :

इस देश में अंधविश्वास में लोग गंवा रहे जान, कोरोना का इलाज पड़ रहा भारी
'कोरोना वाले बाबा' की दुकान बंद, ताबीज देकर ठगता था

आपको बता दें कि अस्पताल में भर्ती परिवार के 8 सदस्यों के नाम लक्ष्मम्मा, सुधाकर, गीता, भवानी, वेंकटेश, हेमंत, वीरम्मा और नागराजू हैं। सोशल मीडिया में फैले एक मैसेज का असर लोगों पर जबरदस्त तरीके से पड़ा है। इस मैसेज में कहा गया है कि काले धतूरे का फल को पानी में डाल कर पीने से कोरोना वायरस ठीक होता है।  कुछ इसी तरह के मैसेजेस को परिवार के सदस्यों ने पूरी तरह से सच मान लिया है कि काले धतूरे का फल कोरोना का खात्मा कर सकता है और जहरीला पानी पीने से अस्वस्थ हो गये। 
 

Advertisement
Back to Top