आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के 38 नये मामले आये सामने, 149 हुई संक्रमितों की संख्या

38 more new cases of coronavirus in Andhra Pradesh - Sakshi Samachar

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का 'विस्फोट'

मरकज में भाग लेकर लौट आये लोगों में कोरोना

अमरावती : आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्य तेजी से बढ़ रही है। गुरुवार को 38 नये मामले दर्ज किये गये हैं। इसके साथ ही आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 149 हो गई हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। 

अधिकारियों ने यह भी बताया कि अधिकतर कोरोना वायरस के मामले दिल्ली के मरकज में भाग लेकर लौट आये लोगों में पाये गये हैं। उन्होंने यह भी बताया कि जिन लोगों में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है, उनके मकानों से दो किलोमीटर तक की एरिया को कब्जे में लिया गया है। साथ ही अधिकारी इस एरिया के लोगों के स्वास्थ की जांच की गहन जांच कर रहे हैं। 

नेल्लोर में बुधवार रात तक कोरोना वायरस के तीन मामले थे। अब यहां पर संख्या बढ़कर 24 हो गई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि अब तक लिये गये नमूनों में 1,321 मामले नेगेटिव आये हैं। 409 लोगों के रिपोर्ट आनी बाकी हैं।

यह भी पढ़ें :

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का विकराल रूप, लॉकडाउन का पालन करने के निर्देश

इसी क्रम में कल, कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से देश विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री से समीक्षा की। इस दौरान आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं। विजयवाड़ा, नेल्लोर और तिरुपति में 2012 नॉन आईसीयू बेड और 444 आईसीयू बेड की व्यवस्था की गई।

सीएम ने कहा कि 13 जिला मुख्यालयों में कोविड-19  पीड़ितों को चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए विशेष अस्पताल की व्यवस्ता की गई है। कुल 10,933 नॉन आईसीयू बेड और 622 आईसीयू बेड तैयार रखे गये हैं। कुल मिला कर 1000 आईसीयू बेड तैयार हैं। साथ ही मुख्य शहरों, नगरों में आइसोलेशन के लिए और 20 हजार बेड तैयार रखे गये हैं। इसके अलावा क्षेत्र स्तर पर लगातार पर्यवेक्षण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 10 फरवरी से अब तक 27,876 से भी अधिक लोग विदेश से राज्य में आये थे। इनमें शहर क्षेत्र में रहनेवाले 10,540 और 17,336 लोग ग्रामीण क्षेत्र के लोग हैं। ये सभी लोग एक-दूसरे से मिल रहे हैं। इस तरह प्राइमरी कॉन्टैक्ट में आने वालों की संख्या 80,896 हैं। सभी लोगों को पर्यवेक्षण में रखा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में तबलीगी जमात में शामिल हुये 1085 लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटाइन में रखा गया है। उनका चिकित्सा परीक्षण किया जा रहा है। अभी तक 132 मामले कोविड-19 के पॉजिटिव पाये गये। 

Advertisement
Back to Top