रायपुर : छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव प्रचार के सिलसिले में शनिवार को बैकुंठपुर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि 15 साल की सरकार में भाजपा ने प्रदेश को दो हिस्सों में बांट दिया है। पहला सूट-बूट वाले अमीरों का और दूसरा गरीब आम जनता का। 'हमें दो नहीं, एक छत्तीसगढ़ चाहिए और उसमें न्याय चाहिए।'

राहुल ने कहा कि भाजपा ने फसल का सही दाम देने का वादा किया था। केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने 10 मनरेगा के बराबर 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपये केवल 15 लोगों का कर्जा माफ किया है, लेकिन किसानों का एक रुपया तक माफ नहीं किया।

उन्होंने कहा, "डॉ. रमन सिंह दिनभर किसानों की बात करते हैं, लेकिन उन्होंने न केवल आपका बोनस छीना है, बल्कि कर्ज माफ नहीं किया और फसलों का सही दाम भी नहीं दिया।"

यह भी पढें :

एक बार फिर मोदी से दो- दो हाथ करना चाहते हैं राहुल, राफेल मुद्दे पर दिया ये चैलेंज

जब राहुल गांधी की मौजूदगी में ही भिड़ गए दिग्गी राजा और ज्योतिरादित्य

राहुल ने आगे कहा, "नरेंद्र मोदी को मैं छत्तीसगढ़ से जवाब देना चाहता हूं, जैसे ही कांग्रेस की सरकार यहां आएगी, 10 दिन के अंदर सरकार हर किसान का कर्जा माफ कर देगी। यह काम हमने पंजाब में किया, कनार्टक में किया और सरकार आने पर यहां भी करेंगे। यही नहीं, हम बोनस देने के साथ रमन सिंह ने जो दो साल का बोनस छीना है, वह भी हम आपको वापस देंगे।"

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "हमने आदिवासियों के लिए, किसानों के लिए पेसा आदिवासी बिल और जमीन अधिग्रहण कानून दिया। इसमें किसानों से पूछकर ही जमीन ली जा सकती है और उसे मार्केट रेट से चार गुना पैसा मिलना चाहिए, लेकिन डॉ. रमन सिंह दो मिनट में जमीन छीन लेते हैं, आदिवासियों को पट्टा नहीं दिलवाते हैं। कांग्रेस सरकार बनने पर इन कानूनों को लागू करेंगे।"

जनसभा में टी.एस. सिंहदेव, चरणदास महंत, कवासी लखमा, अंबिका सिंहदेव, एनएसयूआईए, यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता और ग्रामीण उपस्थित थे।