हैदराबाद : पाकिस्तान के मोहम्मद उस्मान को सौतेली बेटी की अश्लील तस्वीरों के नाम पर ब्लैकमेल करने के आरोप में सीसीएस पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पाकिस्तानी को गैरकानूनी रूप से फर्जी आधार कार्ड, पासपोर्ट और अन्य दस्तावेज उपलब्ध कराने के आरोप में लेक्चरर सहित अन्य तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।

उस्मान ने हैदराबाद की तलाकशुदा महिला से दुबई में पहचान हुई। उसने स्वयं को दिल्ली का नागरिक बताते हुए महिला के साथ संबंध बनाया। वह महिला के साथ भारत आया और उसकी बेटी को अपनाते हुए साथ रहने लगा। इस क्रम में उस्मान ने करीमनगर के लेक्चरर मकसूद अहमद, हैदराबाद के सैयद बदरूजमा किरमानी और ख्वाजा निजाम के सहयोग से फर्जी दस्तावेज तैयार कर लिए। उसने पासपोर्ट भी बना लिया। वह गैरकानूनी रूप से भारतीय नागरिक की तौर पर रह रहा था।

इसे भी पढ़ें :

फर्जी वोटर ID के साथ नगर में छिपकर रह रहे म्यांमार के 9 लोग गिरफ्तार

इस दौरान उस्मान ने सौतेली बेटी का अश्लील वीडियो बनाया और उसे सोशल मीडिया में अपलोड करने की धमकी देते हुए मां और बेटी को परेशान करता रहा। आखिरकार महिला ने उसकी हरकतों से तंग आकर पुलिस थाने में शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

आप को बता दें कि मकसूद फर्जी दस्तावेज बनाने का अच्छा ज्ञान रखता है। राष्ट्रीय स्तर पर उसके विश्वविद्यालय से संबंध है। वह पिछले 6 सालों से विदेशियों को भारतीय नागरिक का प्रमाण पत्र उपलब्ध करवा रहा था। उसने कई लोगों को फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र भी उपलब्ध करवा चुका था।