हैदराबाद : केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के आदेश और लोकसभा में ‘ तीन तलाक ' विधेयक के पारित होने के बावजूद तेलंगाना और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में यह प्रथा अभी भी चल रही है। एयर एशिया समेत घोटालों को पिछली सरकार की ‘‘विरासत'' बताते हुए प्रसाद ने कहा कि राजग सरकार पिछली संप्रग सरकार द्वारा छोड़ी गई ‘‘गंदगी'' साफ कर रही है। उन्होंने कहा,‘‘तीन तलाक धर्म या विश्वास का मुद्दा नहीं है। यह केवल लैंगिक न्याय, लैंगिक गरिमा और लैंगिक समानता का मुद्दा है ..... पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान समेत 22 इस्लामी देशों ने तीन तलाक को नियंत्रित किया है।''

प्रसाद ने कहा कि भारत में लोग धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिकता के मुद्दे को उठा रहे है। लोकसभा ने तीन तलाक विधेयक को पारित कर दिया है। कानून मंत्री ने कहा,‘‘फिर भी तीन तलाक तेलंगाना और उत्तर प्रदेश सहित (राज्यों में) चल रहा है। यह उचित नहीं है। हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं (कानून को लागू करने के लिए)।''

इसे भी पढ़ें :

त्रुटियां दूर करने पर तीन तलाक विधेयक का मुस्लिम लॉ बोर्ड करेगी स्वागत

उन्होंने कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से राज्यसभा में इस विधेयक को पारित कराने में सरकार का सहयोग करने का आग्रह किया। हाल के वित्तीय घोटालों पर उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की गई है।

उन्होंने कहा,‘‘पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की 10 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई है। चिदंबरम ने सत्ता गंवाने के एक दिन पहले वित्त मंत्री के रूप में गीतांजलि के मेहुल चोकसी को विशेष सुविधाएं दी थीं। यह उनका रिकॉर्ड है।''

उपचुनाव के परिणामों पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उपचुनाव ‘‘बैरोमीटर'' नहीं है क्योंकि कई स्थानीय कारक होंगे जो परिणामों को प्रभावित करते है। उपचुनाव में भाजपा ने लोकसभा की कुछ सीटों को खो दिया है। प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत भ्रष्टाचार-मुक्त हुआ और देश को एक पारदर्शी सरकार मिली। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने एलओसी पार सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी समेत देश के हित में कई बड़े फैसले लिये। मंत्री ने पिछले चार वर्ष के दौरान राजग सरकार की उपलब्धियों को भी बताया।