पुडुचेरी/चेन्नई : द्रमुक और तमिलनाडु के अन्य राजनीतिक दलों ने आज सुपरस्टार रजनीकांत की उस टिप्पणी को लेकर उन पर हमला बोला। जिसमें उन्होंने कहा था कि अत्यधिक विरोध प्रदर्शन राज्य को 'कब्रिस्तान' में बदल देंगे। हालांकि सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक ने उनकी इस टिप्पणी का स्वागत किया।

रजनीकांत की टिप्पणी स्टरलाइट संयंत्र के खिलाफ हाल में हुए प्रदर्शन के मद्देनजर आई, जिसमें पुलिस की गोलीबारी में 13 लोग मारे गए थे। तूतीकोरिन में कल घायलों से मिलने के बाद रजनीकांत ने कहा था कि यदि अत्यधिक आंदोलन होते हैं तो तमिलनाडु 'कब्रिस्तान' बन जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि स्टरलाइट की तांबा पिघलाने वाली इकाई को बंद करने की मांग कर रहे स्थानीय लोगों के प्रदर्शन में समाज विरोधी तत्व घुस गए थे।

इसे भी पढ़ें

स्टरलाइट कॉपर स्मेल्टर प्लांट बंद होगा : पन्नीरसेल्वम

उल्लेखनीय है कि रजनीकांत अपनी नयी पार्टी बनाने की घोषणा कर चुके हैं। द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष स्टालिन, एमडीएमके संस्थापक वाइको, एएमएमके नेता टीटीवी दिनाकरण और वीसीके नेता थोल तिरफमावलावन ने रजनीकांत पर उनकी टिप्पणियों को लेकर हमला बोला।

इसे भी पढ़ें

पलानीस्वामी ने कहा- तूतीकोरिन में स्टारलाइट को DMK ने आवंटित की थी जमीन

स्टालिन ने पुडुचेरी में संवाददाताओं से कहा, 'इसमें संदेह है कि क्या यह उनकी (रजनीकांत) टिप्पणी है, क्योंकि भाजपा भी ऐसी टिप्पणी कर चुकी है। वह एक सुपरस्टार हैं और खुद कह चुके हैं कि समाज विरोधी तत्वों ने घुसपैठ कर ली थी। यदि वह इस तरह के लोगों की पहचान कर सकें तो यह देश के लिए अच्छा होगा।'