नई दिल्ली : कर्नाटक में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा आज सुबह 9.00 बजे राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

कर्नाटक में उत्पन्न स्थिति पर दिल्ली में जो रात भर हाई ड्रामा चलता रहा है, उसमे भाजपा पहले दौर में आगे नजर आ रही है। बीएस येदियुरप्पा की शपथ को रोकने की कांग्रेस पार्टी की मांग को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वा राज्यपाल को किसी तरह का आदेश नहीं दे सकता और शपथ पर रोक नहीं लगाई जा सकती।

हालांकि SC के इस फैसले से कांग्रेस पार्टी को भी कुछ हद तक राहत बताई जा रही है। अदालत इस मामले में रातभर सुनवाई करती रही। अदालत का फैसला आने तक येदियुरप्पा की शपथ पर खतरे के बादल मंडरा रहे थे जो बाद में छंट गए। भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवर बीएस यदियुरप्पा आज कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

बताया जा रहा है कि येदियुरप्पा के इस शपथग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मौजूद नहीं होंगे। गौरतलब है कि इससे पहले बताया गया था कि शपथ ग्रहण समारोह में पीएम और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी सामिल रहेंगे। इसका कारण पूछे जाने पर बताया गया कि सबकुछ अंतिम क्षणों में होने के कारण उनका कार्यक्रम में पहुंचना मुश्किल है।

राज्यपाल से येदियुरप्पा को शपथग्रहण का न्योता मिलने के बाद उनके घर की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण से पहले राजभवन के बाहर उनके समर्थकों का जुटना शुरू हो गया है। पारंपरिक वेसभूषा में ढोल नगाड़ों के साथ पहुंचे कई कलाकारों ने वहां डांसकर अपनी खुशी जताई।