चंद्रबाबू राजनीतिक स्वार्थ के लिए श्री भगवान बालाजी का इस्तेमाल कर रहे हैं : YSRCP

वाईएसआरसीपी के नेता भूमना करुणाकर रेड्डी मीडिया से रूबरू होते हुए - Sakshi Samachar

हैदराबाद : वाईएसआरसीपी के नेता भूमना करुणाकर रेड्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायुडू अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए तिरुमला स्थित श्री भगवान बालाजी को इस्तेमाल कर रहे हैं। श्री भगवान बालाजी के मंदिर में अब तक नहीं हुए अनर्थ हर दिन हो रहे है।

करुणाकर रेड्डी गुरुवार को मीडिया से आगे कहा कि मंदिर के प्रधान पूजारी रमणा दीक्षितुलु ने जो आरोप लगाये थे, टीटीडी के प्रबंधन अब तक उसका उत्तर नहीं दिया है। बदले में आरोप लगाने वाले दीक्षितुलु के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाही की है। उन्होंने सवाल किया कि दीक्षितुलु के खिलाफ कार्रवाई करना कहां तक उचित है? वाईएसआरसीपी के नेता ने कहा कि चंद्रबाबू नायुडू प्रदेश के अनेक मंदिरों को गिराने वाला एक 'गजनी' है।

करुणाकर रेड्डी ने कहा, "मुख्यमंत्री पद पांच साल का है। ऐसा व्यक्ति सालों तक मंदिरों में पूजा अर्चना करने वाले पूजारियों के खिलाफ कार्रवाई कर्रवाही करना कहां का न्याय है।"

उन्होंने कहा, "मंदिरों में काम करने वालो के खिलाफ कार्रवाही करने का मुख्यमंत्री चंद्रबाबू को अधिकार नहीं है। कलियुग वैंकुठ वेंकटेश्वर राव स्वामी को चंद्रबाबू नायुडू ने नरक का अड्‍डा बना दिया है। चंद्रबाबू के शासनकाल में विजयवाडा के आसपास स्थापित 45 मंदिरों को ध्वस्त किये गये। अब मंदिरों में पूजा अर्चना कर रहे ब्राह्मणों पर अपना वर्चस्व दिखाया जा रहा है। चंद्रबाबू का पूरा शासनकाल भ्रष्टाचार, अपराध और घोर अन्याय से भरा रहा है।"

करुणाकर रेड्‍डी ने कहा कि विजयवाडा कनक दुर्गा मंदिर के गर्भ स्थल में कैसी-कैसी पूजा अर्चना हो रही है ये हम सभी जानते हैं। उसी तरह की घटनाएं अब श्री भगवान बालाजी मंदिर में हो रही है।

वाईएसआरसीपी के नेता ने कहा कि श्री भगवान बालाजी के साथ किये गये हरकतों के कारण चंद्रबाबू नायुडू पर अलपिरी में जान लेवा हमला हुआ था। चंद्रबाबू नायुडू श्री बालाजी के मंदिर के लिए एक शनि बन गया है।

करुणाकर रेड्डी ने कहा कि मंदिरों की भूमि को कम दामों में खरीदने का श्रेय चंद्रबाबू को जाता है। मुख्यमंत्री ने तिरुमला स्थित एक हजार स्तंभ मंडप को गिरा दिया है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया है कि चंद्रबाबू के खिलाफ संघर्ष करने का समय आ गया है।

Advertisement
Back to Top