मुंबई : केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 13,000 करोड़ रुपये से अधिक के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी के साथ मिलकर कथित धोखाधड़ी करनेवाले बैंक के कुछ वर्तमान और पूर्व कर्मचारियों के खिलाफ सोमवार को आरोप-पत्र दाखिल किए।

एजेंसी ने यहां विशेष सीबीआई अदालत के समक्ष आरोप-पत्र दायर किए।

यह आरोप-पत्र एजेंसी द्वारा 31 जनवरी को दर्ज पहली प्राथमिकी के आधार पर तैयार किया गया है, जिसमें नीरव मोदी, उसकी पत्नी अमी, भाई निशल और मामा चोकसी समेत अन्य को आरोपी बनाया गया है।

ये भी पढ़ें--

चीन नहीं करेगा नीरव मोदी की गिरफ्तारी में हस्तक्षेप

इस मामले की पहली शिकायत पीएनबी के मुंबई स्थित जोनल कार्यालय के उपमहाप्रबंधक द्वारा दर्ज कराई गई थी।

सीबीआई ने बाद में इस धोखाधड़ी मामले में दो और एफआईआर दर्ज किए। ज्यादातर मामलों में मुख्य आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी व अन्य के खिलाफ एफआईआर दायर किया गया है।

इस मामले में अब तक 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि मोदी और चोकसी फरार हैं।