सहारनपुर : शहर के रामनगर इलाके में बुधवार को भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष कमल वालिया के भाई सचिन वालिया की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जिससे पूरे इलाके में तनाव पैदा हो गया है। लोगों का कहना है कि रामनगर के पास महाराणा प्रताप भवन तक शोभायात्रा निकाली जा रही थी। इसी दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने सचिन वालिया की गोली मारकर हत्या कर दी।

फिलहाल पुलिस और जिला प्रशासन के सामने कानून-व्यवस्था बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती बन गई है। मौके पर पीएसी और भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। जिला अस्पताल के बाहर सचिन के भाई और परिजनों ने जमकर हंगामा किया। उनका आरोप था कि सचिन को प्रशासन ने मरवाया है।

इसे भी पढ़ें

“दलित आंदोलन को खत्म कर रही भाजपा सरकार, भीम आर्मी का कर रही दमन”

सचिन की मौत के बाद परिजनों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने का भी विरोध किया। जिसके बाद प्रशासन को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। सचिन के परिजनों का कहना था कि महाराणा प्रताप की जयंती न मनाने की चेतावनी दी गई थी। फिर भी प्रशासन ने इसकी अनुमति दी। भाई के मुताबिक सचिन नाश्ता लेने के लिए बाहर निकला था तभी किसी ने गोली मार दी।

जानकारी के अनुसार क्षत्रिय समाज ने महाराणा प्रताप जयंती के अवसर पर सहारनपुर के रामनगर में शोभायात्रा निकालने की अनुमति मांगी थी। जिसका भीम आर्मी के लोगों ने विरोध किया था। प्रशासन भी पहले इसे टालता रहा, लेकिन बाद में मंगलवार को 150 लोगों के साथ शोभायात्रा निकालने की अनुमति दे दी।

इसे भी पढ़ें

चंद्रशेखर की मां ने संभाला भीम आर्मी का मोर्चा, कहा- ‘हमें बस बहुजन परिवार का साथ चाहिए’

बताया जा रहा है कि सचिन वालिया को महाराणा प्रताप जयंती स्थल से कुछ ही दूरी पर गोली लगी। जिसके बाद उन्हें तुरंत जिला हॉस्पिटल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। हालांकि, गोली कैसे लगी या किसने मारी इसका अभी तक पता नहीं चल सका है।