लखनऊ : उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भाजपा विधायक व सामूहिक दुष्कर्म मामले में आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को मंगलवार को सीतापुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया है। अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।

दुष्कर्म पीड़िता ने जान के खतरे की वजह से इलाहाबाद उच्च न्यायालय के समक्ष याचिका दाखिल की थी, जिसमें उसने सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक को उन्नाव से स्थानांतरित करने की मांग थी।

दुष्कर्म मामले में सह आरोपी शशि सिंह को भी सीतापुर जेल भेज दिया गया है। मामला 2017 में बंगरमऊ का है और शशि ही कथित रूप से पीड़िता को सेंगर के पास ले गया था। भाजपा विधायक के भाई अतुल सिंह और चार अन्य सह आरोपी अभी भी उन्नाव जेल में बंद हैं।

यह भी पढ़ें :

उन्नाव गैंगरेप कांड पर बोले योगी- कोई कितना भी प्रभावशाली हो बख्शा नहीं जाएगा

कठुआ-उन्नाव पर PM ने तोड़ी चुप्पी, कहा- हमारी बेटियों को न्याय मिलेगा, कोई अपराधी नहीं बचेगा

इस मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम आरोपी विधायक को सीतापुर जेल ले गई। पिछले सप्ताह दुष्कर्म पीड़िता और उसके चाचा ने उच्च न्यायालय के समक्ष अपनी आपबीती सुनाई थी। पीड़िता ने अदालत को बताया कि वह सीबीआई की अभी तक की जांच से संतुष्ट हैं, लेकिन उसे पुलिस की भूमिका को लेकर संशय है।

पीड़िता ने कहा कि जेल में बंद विधायक अंदर खुली छूट है इसलिए उसे (पीड़िता) अपनी और परिवार की सुरक्षा को लेकर खतरा है, जिसके बाद अदालत ने राज्य सरकार को सेंगर को उन्नाव जेल से किसी अन्य जेल शिफ्ट करने का निर्देश दिया।

-आईएएनएस