मुंबई : एक ही शादी समारोह के मंडप में दुल्हे ने दो दुल्हनों के गले में मंगलसूत्र बांधे। यह घटना महाराष्ट्र, नांदेड ज़िला, धर्माबाद तहसील के समराला ग्राम में घटी। बताया जा रहा है कि समराला के साईनाथ उरेकर का विवाह संबंध बिलोली तहसील के कोटग्याल की ध्रुपदाबाई और राजश्री शिरगिरे से तय हुआ। शादी समारोह में साईनाथ ने ध्रुपदाबाई और राजश्री शिरगिरे के गले में मंगलसूत्र बांधे।

लोगों ने बताया है कि बिलोली तहसील के कोटग्याल की राजश्री शिरगिरे ने साईनाथ के सामने विवाह करने के लिए शर्त रखी। साईनाथ यदि उसकी बड़ी बहन से भी शादी करता है तो वह उससे शादी करेगी। साईनाथ ने उसकी शर्त मानते हुए ध्रुपदाबाई और राजश्री शिरगिरे के साथ विवाह किया। इस विवाह समारोह के शादी के कार्ड और फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुए।

इसे भी पढ़ें :

शादी समारोह के लिए सही आभूषण का करें चयन !

आप को बता दें कि राजश्री शिरगिरे की बड़ी बहन ध्रुपदाबाई मानसिक विकलांग है। राजश्री ने सोचा कि यदि उसकी दीदी का विवाह किसी और से किया गया तो उसके साथ प्रताड़ना हो सकती है। सोच के अनुसार उसने यह निर्णय लिया।

शादी का कार्ड
शादी का कार्ड

बताया जा रहा है कि हिंदु विवाह रिवाज एवं परंपरा के अनुसार बहुविवाह को अनुमति नहीं है। ऐसा करने पर अपराध माना जाता है। यह कानूनन जूर्म है। आप को बता दें कि कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक रावसाहब अंतापुरकर इस शादी समारोह में शामिल हुए और उन्होंने नवदंपति को आशिर्वचन दिए।