तिरुपति : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू ने यहां सोमवार शाम एक विशाल जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वीडियो दिखाकर राज्य को विशेष दर्जा देने को लेकर उनके द्वारा की गई धोखेबाजी को बेनकाब किया। तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि मोदी ने प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में भगवान वेंकटेश्वर के सामने जो वादे किए थे, उसे उन्होंने पूरा नहीं किया।

श्री वेंकटेश्वर विश्वविद्यालय मैदान में आयोजित जनसभा में हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे। इसी स्थान पर प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में मोदी ने चार वर्ष पहले एक जनसभा को संबोधित किया था। वीडियो क्लिप में मोदी एम. वेंकैया नायडू की इस बात के लिए प्रशंसा कर रहे हैं कि उन्होंने तत्कालीन संप्रग सरकार से विशेष दर्जे का वादा करवा लिया। नायडू मोदी के भाषण का तेलुगु में अनुवाद कर रहे थे। उसके बाद उन्होंने जनसमूह से कहा कि सत्ता में आने के बाद वह इस वादे को पूरा करेंगे।

नायडू ने एक अन्य चुनावी जनसभा में मोदी के भाषण की वीडियो क्लिप दिखाई। इसमें मोदी ने जनता को भरोसा दिया है कि सत्ता में आने के बाद वह राज्य की नई राजधानी इस तरह बनाएंगे कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली भी उसके आगे छोटी दिखेगी।

ये भी पढ़ें :

CM चंद्रबाबू ने नारेपल्ली में पूरे परिवार के साथ मनाई संक्रांति, लोगों को दी बधाई

मुख्यमंत्री ने जनसमूह को मोदी के भाषण का एक और वीडियो दिखाया, जिसे उन्होंने अमरावती में 22 अक्टूबर, 2015 को नई राजधानी की आधारशिला रखे जाने के बाद दिया था। सभा में मोदी ने संकल्प लिया था कि आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम में किए गए सभी वादों को पूरा किया जाएगा। नायडू ने 2014 के चुनाव प्रचार अभियान के दौरान मोदी द्वारा किए गए वादों को याद दिलाते हुए जनसमूह से बार-बार पूछा कि "क्या यह धोखा नहीं है?"

विशेष दर्जे की मांग पर किसी तरह के समझौते की बात नकारते हुए नायडू ने घोषणा की कि तेदेपा अपनी लड़ाई जारी रखेगी। नायडू ने कहा कि तेदेपा राज्य हित में राजग में शामिल हुई थी। उन्होंने कहा कि 2014 में राज्य के बंटवारे के समय जो वादे किए गए थे, उसे हासिल करने के लिए तेदेपा ने हमेशा लड़ाई लड़ी है।

उल्लेखनीय है कि तेदेपा राज्य को विशेष दर्जा देने से सरकार के इंकार के बाद मार्च में राजग से अलग हो गई थी।