नई दिल्ली: लालू प्रसाद के लाख विरोध करने और सियासी दबाव के बावजूद एम्स से उन्हें छुट्टी दे दी गई। इस दौरान बीमार लालू व्हील चेयर से बाहर निकलते दिखे। इस दौरान नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद लालू की भिड़ंत एक पुलिस अधिकारी से हुई। पुलिस वालों ने लालू को कुछ औपचारिकताएं पूरी करने तक रोका। जिसपर तिलमिलाये लालू बिफर पड़े। इस बीच पत्रकार सवाल करते रहे, , "लालूजी क्या हुआ, आपको परेशान किया जा रहा है?" इस पर लालू ने उखड़े अंदाज में कहा कि ये दारोगा पता नहीं क्या चाहता...इसका एसपी मेरा बॉस है क्या!

यह भी पढ़ें:

लालू को RIMS में शिफ्ट करने के विरोध में RJD समर्थकों ने कर दी तोड़फोड़, गार्ड घायल

लालू प्रसाद का सब्र का बांध जैसे टूट चुका था। उन्होंने कहा कि जब एम्स ने उन्हें छुट्टी दे दी है तो तुम कौन रोकने वाले हो। आस पास जुटे पत्रकारों को देख पुलिस वाला भी सहमा हुआ था। लालू जैसे कद्दावर नेता को रोकने के लिए जोर जबरदस्ती की उसकी हिम्मत नहीं हुई। वो बार बार रोकने की कोशिश करता रहा। इसी बीच भीड़ से आवाज आई, "भाई बीमार आदमी हैं, बैठने तो दो!" इसके बाद लालू प्रसाद ने अपनी जगह ली।

लालू प्रसाद लाख मुश्किल में हों, बावजूद इसके उनके आवाज की खनक और तेवर बरकरार है। लालू ने अपने भदेस अंदाज में ही पुलिसवाले को हड़काया।

इससे पहले लालू ने खुद के खिलाफ राजनीतिक साजिश के तहत परेशान किए जाने का आरोप लगाया। लालू प्रसाद को रांची स्थित रिम्स में शिफ्ट होने पर एतराज है। उनकी दलील है कि उनकी बीमारियों के लिए रिम्स में सही इलाज उपलब्ध नहीं है।

लालू प्रसाद ने उनके लिए मौजूदा समय को कठिन समय बताया है। हालांकि एक मजबूत नेता के तौर पर उन्होंने कहा कि सामना करना होगा। लालू रांची स्थित रिम्स में नहीं रहना चाहते हैं। उनकी दलील है कि रिम्स में उनकी बीमारी के लिए इलाज की उचित व्यवस्था नहीं है।