हैदराबाद : राज्यसभा सदस्य तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवीपी रामचंद्र राव ने आरोप लगाया है कि आंध्र प्रदेश में प्रशासन ढुलमुल हो गया है। प्रशासन गलत राह पर जा रहा है। उन्होंने आगे कहा है कि आंध्र प्रदेश में नोटबंदी का असर अभी तक दिखाई दे रहा है।

KVP ने सवाल किया है कि चंद्रबाबू को क्या यह बात समझ में नहीं आ रही है। एटीएम में रूपये नहीं होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। चंद्रबाबू नकदी की समस्या का समाधान करने को लेकर कोई कारगर कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :

कई राज्यों में नोटबंदी जैसे हालात, सरकार ने भी माना- कुछ राज्यों में है कैश का संकट

केवीपी ने आगे कहा है कि चंद्रबाबू ने नोटबंदी का स्वागत किया था। आप को बता दें कि नोटबंदी के बाद उभरी समस्या का समाधान करने के उद्देश्य से चंद्रबाबू को समिति का अध्यक्ष बनाया गया। रामचंद्रराव ने सवाल किया है कि समिति का अध्यक्ष बनाने के बाद क्या चंद्रबाबू इस बात को भूल गए है। उन्होंने कहा है कि पंचायत से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक धांधलियां देखी जा रही है। चंद्रबाबू लोगों की समस्या का समाधान करने की बजाय राजनीति पर अधिक ध्यान दे रहे हैं। आधिकारिक सम्मेलन, बैठक, समीक्षा आदि तक ही चंद्रबाबू सीमित रह गए हैं।