उत्तरकाशी : उत्तराखंड में सालाना चारधाम यात्रा आज से अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर शुरू हो गई। श्रद्धालुओं के पूजा - पाठ के लिए यमुनोत्री और गंगोत्री मंदिरों के पट आज खोल दिए गए।

गंगोत्री एवं यमुनोत्री मंदिर के संबंधित अधिकारियों ने बताया कि ठंडे मौसम की वजह से पिछले करीब छह महीने से बंद पड़े गंगोत्री मंदिर के दरवाजे आज दोपहर एक बजकर 15 मिनट पर खोल दिए गए। वहीं यमुनोत्री मंदिर के दरवाजे दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर खोले गए।

ये भी पढ़ें--

उत्तराखंड में सिलेंडरों से लदी लॉरी में विस्फोट.. चारधाम यात्रा बाधित

20 दिनों में चारधाम यात्रा में हो गई है 17 श्रद्धालुओं की मौत

गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने बताया कि देवी गंगा की मूर्ति डोली में गंगोत्री मंदिर सुबह करीब 10 बजे पहुंची। ठंड के दौरान देवी की प्रतिमा को भैरव घाटी में रखा जाता है। मंदिर के दरवाजों को खोलने से पहले पुजारियों ने करीब तीन घंटे तक यहां विशेष पूजा की।

यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि इसी तरह की पूजा - अर्चना यमुनोत्री में भी हुई। चारधाम यात्रा के अन्य दो बड़े मंदिर केदारनाथ और बद्रीनाथ के पट भी क्रमश : 29 अप्रैल और 30 अप्रैल को खुलेंगे।