लखनऊ: सीजेएम कोर्ट ने उन्नाव गैंगरेप मामले में कड़ा फैसला देते हुए आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सात दिनों की सीबीआई रिमांड पर भेज दिया। इस दौरान मीडिया का जमावड़ा दिखा, जिसके सामने सेंगर काफी भावुक नजर आए। सेंगर पूरी तरह रोनी सूरत में नजर आए। सवाल पूछने पर उन्होंने कहा कि अब तो भगवान ही देखने वाला है।

यह भी पढ़ें:

उन्नाव रेप मामला : आरोपी भाजपा विधायक गिरफ्तार, CBI की पूछताछ जारी

हालांकि आरोपी विधायक ने न्यायपालिका पर भरोसा जताया। उन्होंने उम्मीद जताई कि उनके साथ न्याय होगा और वे जल्दी ही पाक साफ होंगे। कुलदीप सिंह सेंगर खुद को निर्दोष बताया। कोर्ट में जाते हुए लगभग रोते हुए कुलदीप ने न्यायपालिका और भगवान से उम्मीद की आस लगाई।

इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट के दबाव के बाद शुक्रवार को आरोपी विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया। विधायक पर पोक्सो एक्ट के तहत तीन बड़ी धाराओं के तहत चार्जशीट दायर की गई है। सेंगर पर रेप, हत्या और अपहरण का मामला दर्ज किया गया है।

बता दें कि आरोपी विधायक सेंगर पर कार्रवाई की मांग को लेकर बीते दिनों पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास के बाहर आत्महत्या की कोशिश की थी। जिसके बाद विपक्ष ने इसे मुद्दा बना लिया। मामला तूल पकड़ने के बाद खुलासा हुआ कि पीड़िता के पिता के साथ मारपीट की गई थी। साथ ही झूठे मामले में उन्हें जेल में डाल दिया गया, जहां उनकी संदिग्ध मौत हो गई।

मानवीय संवेदनाओं को झकझोड़ देने वाली इस खबर ने लोगों को आंदोलित किया। जिसके बाद खुद सीएम ने एलान किया कि इस मामले में आरोपी कितना ही प्रभावशाली क्यों न हो, उसे बख्शा नहीं जाएगा। कोताही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई हुई। जिसके बाद कोर्ट के दबाव में आखिरकार विधायक की गिरफ्तारी हुई।