नई दिल्ली : पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर आज अंतरराष्ट्रीय अदालत आगे के कदम पर अपना फैसला देगी। भारत ने पिछले साल सितंबर में जाधव मामले में आईसीजे के समक्ष अपना लिखित पक्ष रखा था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों पक्षों की तरफ से दलीलें पेश की गई हैं। आगे के कदम के बारे में फैसला आईसीजे करेगी। भारत ने पिछले साल आठ मई को आईसीजे का रुख किया था और जाधव को मौत की सजा सुनाए जाने को चुनौती दी थी। आईसीजे ने मौत की सजा निलंबित कर दी थी। इस मामले में आखिरी फैसला आना अभी बाकी है।

भारतीय नौसेना के 46 साल के सेवानिवृत्त अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने पाकिस्तान के खिलाफ कथित रुप से जासूसी और विध्वंसकारी गतिविधियों में संलिप्तता के लिए अप्रैल में मौत की सजा सुनाई थी।

यह भी पढ़ें :

पाकिस्तान का दावा, कुलभूषण के बदले आतंकवादी देने का मिला था प्रस्ताव

कुलभूषण मामले में हरीश साल्वे कितनी फ़ीस ले रहे हैं, जानकर हैरान होंगे आप!

उज्जवल निकम ने पाकिस्तान जाकर कुलभूषण जाधव का केस लड़ने की भरी हामी

दूसरी ओर भारत ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया है कि उसने जाधव तक राजनयिक पहुंच उपलब्ध कराने के आग्रह को बार बार ठुकरा कर वियना संधि का उल्लंघन किया है। 18 मई को इस मामले की सुनवाई करते हुए अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत की 10 सदस्यीय पीठ ने जाधव को फांसी की सजा पर अमल पर रोक लगा दी थी।