नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) इनदिनों विपक्ष के साथ-साथ अपनों के निशाने पर भी है। एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के मुद्दे पर भाजपा सांसद अपनी ही पार्टी के खिलाफ मैदान में उतर आए हैं। अब तक चार भाजपा सांसदों ने नाराजगी जाहिर की है, जो कि सभी उत्तर प्रदेश से आते हैं। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ ही यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की चिंता बढ़नी लाजिमी है।

भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले
भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले

सांसद सावित्री बाई फुले

सबसे पहले भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने मोदी सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की थी। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा, "संविधान और आरक्षण खतरे में है। मैं सांसद रहूं या न रहूं लेकिन संविधान के साथ छेड़छाड़ नहीं होने दूंगी। आरक्षण कोई भीख नहीं बल्कि प्रतिनिधित्व का मामला है। यदि शासक वर्ग ने भारत के संविधान को बदलने और हमारे आरक्षण को खत्म करने का दुस्साहस किया तो भारत की धरती पर खून की नदियां बहेंगी।"

उन्होंने कहा कि आरक्षण हमारे बाबा साहेब का दिया अधिकार है किसी और के बाप दादा या भगवान का नहीं। यह सवाल पूछे जाने पर कि आप भाजपा की सांसद हैं और अब क्या भाजपा छोड़ेंगी। साध्वी ने कहा, "मैं भारत की सांसद हूं और जब तक मेरा कार्यकाल है तब तक मैं सांसद रहूंगी।"

यह भी पढ़ें:

आरक्षण को लेकर मोदी-योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में यह BJP सांसद

सांसद छोटे लाल एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्रा
सांसद छोटे लाल एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्रा

सांसद छोटेलाल खरवार

रॉबर्ट्सगंज से भाजपा सांसद छोटेलाल खरवार ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर ही सवालिया निशान लगा दिया है। सोनभद्र जिले की रॉबर्ट्सगंज सीट से भाजपा सांसद छोटेलाल सिंह खरवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर प्रदेश नेतृत्व पर उपेक्षा का आरोप लगाया है और कहा है कि जब अपने एक मामले में उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की तो उनकी समस्या हल करने की बजाए डांट कर भगा दिया गया।

प्रधानमंत्री मोदी को जो पत्र लिखा है, उसमें साफ साफ जिक्र है कि सपा सरकार के दौरान जब गुंडा राज चल रहा था, तब उन्होंने सामान्य सीट पर अपने भाई और आदिवासी दलित नेता जवाहर खरवार को चंदौली जिले की नक्सल प्रभावित एरिया की नौगढ़ ब्लाक का प्रमुख की सीट जीत दिलाई थी। जिले में यह उस समय भाजपा की अकेली जीत थी। पर जैसे अपनी ही पार्टी की सरकार आई तो उनके भाई को ब्लाक प्रमुख पद से हटाने की साजिश की गई।

यह भी पढ़ें :

BJP MP को योगी ने डांटा, तो मोदी-शाह को लिखा पत्र, कहा- दलित होने के कारण कर रहे हैं परेशान

सांसद अशोक दोहरे एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्र
सांसद अशोक दोहरे एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्र

भाजपा सांसद अशोक दोहरे

इटावा से दलित भाजपा सांसद अशोक दोहरे ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा है कि पिछले दिनों एसी एसटी एक्ट को लेकर हुए प्रदर्शन के बाद पुलिस दलित समुदाये के लोगों को झूठे केस में फंसाकर गिरफअतार कर रही है। सासंद अशोक दोहरे ने लिखा कि दो अप्रैल को भारत बंद के दौरान जहां-जहां प्रदर्शन हुए, उसमें से यूपी में खासकर पुलिस दलितों को परेशान कर रही है और खोज-खोजकर पकड़ रही है। गिरफ्तार कर रही है।

यह भी पढ़ें :

भाजपा के एक और दलित सांसद ने की ‘बगावत’, कहा- मोदी सरकार ने 4 साल में कुछ नहीं किया

भाजपा सांसद यशवंत सिंह एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्र
भाजपा सांसद यशवंत सिंह एवं उनके द्वारा लिखा गया पत्र

भाजपा सांसद यशवंत सिंह

यूपी के नगीना से भाजपा सांसद यशवंत सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर नाराजगी जाहिर की है। सांसद यशवंत सिंह ने एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर सरकार पर सवाल उठाए हैं। यशवंत सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में दलितों के हितों की आवाज बुलंद की है। उन्होंने लिखा है कि मोदी सरकार ने दलितों के हित के लिए एक भी काम नहीं किया है।