बेंगलुरु : कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है। भातीय जनता पार्टी और कांग्रेस के राष्ट्रीय जमकर जनसंपर्क कर रहे हैं। इस बीच बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई रैलियों को संबोधित किया। इस दौरान दवनागरे पहुंच राहुल ने प्रदेश के व्यापारियों से मुलाकात की। व्यापारियों से मुलाकात के दौरान राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार जनविरोधी नीतियां बनाने में लगी हुई है। वो लोग सिसी से सलाह मशवरा नहीं करते हैं।

राहुल ने कहा कि 'पीएम मोदी मुझसे सिर्फ दुआ सलाम करते हैं। वो मुझसे सिर्फ हाय हैलो करते हैं।' राहुल पीएम के इस रवैये को जीएसटी और व्यापार विरोधी नितियों के लिए जिम्मेदार बताया है। उन्होंने जीएसटी को लेकर व्यापारियों से कहा कि कांग्रेस का आइडिया एक टैक्स स्लैब का था, जबकि बीजेपी ने कई टैक्स जोड़ दिए। राहुल ने पीएम पर अकेले सारे फैसले लेने के आरोप लगाते हुए कहा कि आप वन मैन शो की तरह देश नहीं चला सकते। इसी कड़ी में उन्होंने किसी भी कदम पर विपक्ष से बातचीत न करने का आरोप लगाया।

इन्हें भी पढ़ें

कर्नाटक चुनाव : अमित शाह बोले, लिंगायत समुदाय को नहीं बनने देंगे अलग धर्म

कर्नाटक चुनाव : निर्वाचन आयोग की सख्ती, अमित शाह, राहुल गांधी के विमानों की ली गई तलाशी

कर्नाटक चुनाव : आज से राहुल फिर संभालेंगे प्रचार की कमान, जारी रखेंगे जन आशीर्वाद यात्रा

व्यापारियों से मुलाकात के दौरान राहुल आगे कहा कि 'सोनिया गांधी और मैं भारत के 20 फीसदी वोट शेयर का प्रतिनिधित्व करते हैं। लेकिन बताइए मोदी जी ने पिछले चार सालों में हमसे बात की है।' उन्होंने कहा कि 'जब भी मनमोहन सिंह जी कोई फैसला लेते थे, तो आडवाणी जी से बात करते थे। क्योंकि आडवाणी जी लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं। जबकि पिछले चाल सालों में पीएम मोदी और मेरे बीच सिर्फ हाथ मिलाने, नमस्ते कहने और हाल-चाल पूछने भर बात होती है।' कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि यह बहुत ही हास्यास्पद है और ऐसा सिर्फ मेरे साथ ही नहीं, बल्कि हमारी पार्टी के दूसरे नेताओं समेत समूचे विपक्ष के साथ पीएम मोदी ऐसा ही व्यवहार रखते हैं।