नई दिल्ली : राजग नीत केन्द्र सरकार पर करारा प्रहार करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज कहा कि नोटबंदी और बैंक घोटाले जैसे मुद्दों ने जमीनी स्तर पर जनता को प्रभावित किया है। अब भाजपा के लिए ‘‘बोरिया बिस्तर बांधकर निकलने का'' वक्त आ गया है।

उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी दलों को भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए एकसाथ मिलकर मेहनत करनी चाहिए। कर्नाटक विधानसभा चुनावों की लीक चुनावी तारीखों पर प्रतिक्रिया देते हुए ममता ने कहा कि सभी संस्थाएं भाजपा की संस्थाएं बन गई हैं क्योंकि भाजपा कई एजेंसियों का ‘‘प्रयोग और दुरुपयोग'' कर रही हैं।

इन्हें भी पढ़ें

के चंद्रशेखर राव और ममता बनर्जी के नेतृत्व में फेडरल फ्रंट !

ममता बनर्जी ने TDP के राजग से अलग होने के फैसले का किया स्वागत , की एकजुटता की अपील

ममता बनर्जी ने दी ऋतिक रोशन को जन्मदिन की बधाई

भाजपा की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इससे पहले आज चुनाव आयोग द्वारा कर्नाटक विधानसभा चुनावों की तारीखें घोषित करने से पहले ही इन चुनावों की तारीखें ट्वीट कर दीं। इसके बाद आयोग ने इस लीक को ‘‘बहुत गंभीर मुद्दा'' करार देते हुए इस मामले में जांच और कड़ी कार्रवाई की जरूरत की बात कही।

तृणमूल प्रमुख ममता ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि सभी विपक्षी दल एकसाथ मिलकर मेहनत करें। हमें भाजपा से लड़ने के लिए राज्य की सबसे मजबूत विपक्षी पार्टी की मदद करनी चाहिए। यह एक लड़ाई होनी चाहिए। ''राष्ट्रीय राजधानी आईं ममता ने राकांपा प्रमुख शरद पवार तथा तेदेपा, टीआरएस तथा शिवसेना के नेताओं से मुलाकात की।

उन्होंने कहा, ‘‘जनता भाजपा के खिलाफ है। मैंने कई राज्यों की यात्रा की। मैं जनता का मूड जानती हूं। नोटबंदी, जीएसटी, बैंक धेाखाधड़ी जैसे मुद्दों ने जमीनीस्तर पर जनता को प्रभावित किया है। भाजपा के लिए बोरिया बिस्तर बांछकर निकल लेने का वक्त आ गया है।'' ममता कल भाजपा के असंतुष्ट नेताओं शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा तथा पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण शौरी से मिलेंगी।