रांची : चारा घोटाले से जुड़े दुमका ट्रेजरी मामले में सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने लालू यादव को अब तक की सबसे बड़ी और लंबी 14 साल की सजा सुनाई है। इसके अलावा दो मामलों के तहत लालू प्रसाद को कुल 60 लाख का जुर्माना भी देना होगा।

दरअसल लालू प्रसाद को आईपीसी और करप्शन एक्ट के तहत 7-7 साल की सजा सुनाई गई है। दोनों सजाएं अलग अलग चलेंगी, मतलब सात साल जेल में रहने के बाद लालू की अगली सजा शुरू होगी। लालू यादव के खिलाफ चारा घोटाला के दो और मामलों में सजा आना बाकी है।

इससे पहले इसी वर्ष 24 जनवरी को लालू प्रसाद एवं जगन्नाथ मिश्र को सीबीआई की विशेष अदालत ने चाईबासा कोषागार से 35 करोड़, 62 लाख रुपये का गबन करने के चारा घोटाले के एक अन्य मामले में दोषी करार देते हुए पांच-पांच वर्ष सश्रम कारावास एवं क्रमशः दस लाख एवं पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनायी थी।

सीबीआई की विशेष अदालत ने चारा घोटाले के चाईबासा मामले में कुल 50 आरोपियों को दोषी करार देते हुए सजा सुनायी थी।

यह भी पढ़ें :

‘राम’ से वोट नहीं मांगता, खुशहाली की प्रार्थना करता हूं : लालू यादव

पिता लालू यादव से जेल में मिले तेज प्रताप, 30 मिनट की मुलाकात