लखनऊ : वैसे तो दिवंगत फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी के तरह-तरह के फैन देखने और सुनने को मिल जाएंगे, लेकिन उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में एक फैन ऐसा भी है जो श्रीदेवी के असामयिक निधन ने दुखी है, जिसने मौत के बाद अंतिम संस्कार तक खाना ही नहीं खाया।

गंगाराम को जब श्रीदेवी के निधन की बात पता चली तो वह काफी दुखी हुआ। अंतिम संस्कार के बाद उसने सिर मुंडवाया, कुस लगाकर जल दिया उसके बाद लोगों के बहुत कहने पर अन्न-जल ग्रहण किया। कोतवाली देहात के खमरिया गांव निवासी गंगाराम छह भाई बहनों में सबसे बड़ा है।

पांच सालों से वह कस्बे में संचालित सर्वेश जनसेवा इंटर कॉलेज में चौकीदारी है। गंगाराम के मुताबिक वह बचपन से श्रीदेवी का बहुत बड़ा प्रशंसक है। उनकी चांदनी, मिस्टर इंडिया फिल्म वह सौ बार देख चुका है।

गंगाराम ने बताया, 24 फरवरी को जैसे ही उसे श्रीदेवी के निधन खबर मिली तो वह बदहवाश हो गया। उसने खाना-पीना छोड़कर खुद को कमरे में बंद कर लिया। करीब चार दिन बाद जब श्रीदेवी का अंतिम संस्कार हो गया तब जाकर उसने खाना-खाया।

यह भी पढ़ें :

श्रीदेवी के निधन के बाद बोनी कपूर को सिर्फ एक बात की है चिंता

पंचतत्व में विलीन हुआ श्रीदेवी का पार्थिव शरीर, अब यादों में रहेगी ‘चांदनी’ की रोशनी

यही नहीं गंगाराम ने अपना सिर मुंडवाते हुए कॉलेज परिसर में ही कुस लगाकर उसमें रोज सुबह पानी देना शुरू कर दिया। गंगाराम ने बताया कि उसने एक सौ एक पेड़ लगवाने और गांव में एक मंदिर भी बनवाने का संकल्प भी लिया है। गंगाराम ने बताया कि मैं श्रीदेवी को बहुत चाहता था मैं उनकी हर एक अदा का दीवाना हूं।

कॉलेज के प्रबंधक सर्वेश ने बताया, गंगाराम कॉलेज में ही रहता है, लेकिन खाना-पीना हमारे घर पर करता है। कॉलेज के प्रधानाचार्य ने बताया कि श्रीदेवी के निधन पर गमजदा है। बोले कि उसकी हालत देखकर कई दिनों तक निगरानी करता रहा कि कहीं कोई गलत कदम न उठा ले, काफी समझाने बुझाने के बाद उसने खाना खाया, लेकिन अभी भी गुमसुम रहता है।