रांची: झारखंड हाईकोर्ट ने लालू प्रसाद की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। बता दें कि चारा घोटाला के एक मामले में रांची की विशेष सीबीआई अदालत ने साढ़े तीन साल जेल की सजा सुनाई थी। जिसपर लालू प्रसाद ने झारखंड हाईकोर्ट में जमानत की याचिका दायर की थी। जिसके नामंजूर होने के बाद लालू का प्रसाद का फिलहाल जेल से निकलना मुश्किल हो गया है। ये तय है कि इस बार होली लालू प्रसाद जेल में ही मनाएंगे।

हाईकोर्ट के इनकार के बाद लालू प्रसाद के समर्थकों और राजद नेताओं में मायूसी की लहर है। बेटे तेजस्वी ने कल ही लोगों से लालू प्रसाद की जमानत के लिए दुआ करने की अपील की थी।

वहीं लालू का जेल में होली मनाना कई लोगों को खलेगा। असल में लालू पर होली की खूब खुमारी चढ़ती है। कभी कुर्ता फाड़ तो गभी कीचड़ होली से लालू लोगों को सराबोर करने में माहिर हैं। हर साल उनके घर पर होली को लेकर समां बंधता है। जाहिर है इस बार लालू प्रसाद के घर होली में उत्सव जैसा माहौल नहीं दिखेगा।

1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये अवैध तरीके से पशु चारे के नाम पर निकलवाए गए थे। जिसमें लालू प्रसाद समेत कई अन्य सजायाफ्ता हैं। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने 6 जनवरी को लालू प्रसाद को सजा सुनाई थी।

लालू के अलावा इस मामले में 16 लोगों को दोषी करार दिया गया है। लालू प्रसाद को पांच लाख जुर्माना भी अदा करने की हिदायत दी गई थी।

इस मामले में लालू प्रसाद के अलावा दोषी करार दिए गए फूल चंद, महेश प्रसाद, बाके जुलियस, सुधीर कुमार, सुनील कुमार, सुशील कुमार और राजाराम को भी साढ़े तीन साल साल कैद व 5 लाख रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई गई थी। वहीं बाकी 6 अन्‍य दोषियों को 7 साल जेल की सजा और 10 लाख रुपये जुर्माना ठोका गया था।