नई दिल्ली : सोशल मीडिया पर अपनी अदाओं से रातो-रात स्टार बनीं एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश वारियर ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दरअसल तेलंगाना में अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द कराने के लिये सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में प्रिया प्रकाश ने एक याचिका दायर की।

फिल्म 'ओरु ओदार लव' के गाने के प्रिया प्रकाश वारियर चर्चा में आईं। प्रिया ने राज्यों को उसके खिलाफ किसी भी प्रकार की आपराधिक कार्रवाई नहीं करने का निर्देश देने का भी शीर्ष अदालत से अनुरोध किया है।

केरल के त्रिशूर में एक कॉलेज की बी.कॉम की छात्रा ने 'ओरु ओदार लव' फिल्म के गीत माणिक्य मलारया पूवी के बोल ‘‘आहत करने वाले'' या ''एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं का उल्लंघन'' करने के आरोप में शिकायत दर्ज कराने के मामले में अपने लिये संरक्षण का अनुरोध भी किया है।

यह भी पढ़ें :

प्रिया प्रकाश के वायरल वीडियो और विवादित गाने की इस्लामिक सच्चाई

प्रिया प्रकाश के स्टारडम के पीछे है एक दुकानदार का हाथ: मजेदार कहानी

प्रिया प्रकाश की आंख मिचौली के खिलाफ हैदराबाद में दर्ज हुआ केस, यह है शिकायत

याचिका में कहा गया है कि उसके खिलाफ 14 फरवरी को हैदराबाद के फलकनुमा थाने में एक शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है, जिसमे आरोप लगाया गया है कि इस गीत के बोल ने एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को आहत किया है।

उसने कहा है कि उसी दिन मुंबई में रजा अकादमी के सचिव ने याचिकाकर्ताओं के खिलाफ उचित कार्रवाई करने, वीडियो हटाने और इसका प्रसारण रोकने के लिये आपराधिक शिकायत दर्ज कराई गई है।

प्रिया ने कहा है कि ‘‘इस गीत में पैगम्बर मोहम्मद और उनकी पहली बीवी खदीजा के बीच प्रेम की प्रशंसा की गयी है। यहां इस तथ्य का भी ध्यान रखना जरूरी है कि यह गीत केरल का एक पुराना मूल लोक गीत है, जिसे पीएमए जब्बार ने 1978 में कलमबंद किया था और पहली बार तलासरे रफीक ने पैगंबर और उनकी बीवी खदीजा की प्रशंसा करते हुये गाया था।''