रांची: जदयू से नाता टूटने के बाद शरद यादव को लालू प्रसाद का आसरा था, अब वे भी जेल में हैं। हाशिये पर आए शरद ने जेल में लालू प्रसाद से मुलाकात की। पुराने साथी शरद को देखते ही लालू ने उन्हें गले से लगा लिया। शरद यादव के साथ झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, झामुमो नेता प्रदीप यादव भी थे।

जब लालू प्रसाद सीबीआइ कोर्ट में सुनवाई के दौरान पहुंचे तो मीडियाकर्मियों ने उनसे शरद यादव के साथ मुलाकात पर सवाल दागा। लालू ने बड़ी मायूसी से कहा कि 8-10 मिनट ही तो बात हो पाई। जेल नियमों को ध्यान में रखते हुए दोनों नेताओं को लंबी मुलाकात की इजाजत नहीं दी गई थी।

यह भी पढ़ें:

“नीतीश कुमार ने जनादेश का रेप किया”, तेजस्वी यादव का विवादित बयान

हालांकि लालू प्रसाद ने इस मुलाकात को सकारात्मक बताया। साथ ही दावा किया कि बीजेपी के खिलाफ विपक्षी लामबंदी और तेज हुई है। लालू के मुताबिक देश में माहौल अभी ठीक नहीं चल रहा है।

वहीं जेल से मुलाकात के बाद निकलते ही शरद ने केंद्र की मोदी सरकार को जमकर कोसा। साथ ही आरोप लगाया कि केंद्र की बीजेपी सरकार जनता का भला नहीं कर रही है, बल्कि देश में भाईचारे का माहौल बिगड़ा है।

बता दें कि डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये अवैध निकासी मामले में लालू सहित बाकी आरोपियों की सोमवार को पेशी हुई।