नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेल में बंद लालू प्रसाद के बारे में सार्वजनिक सभा में टिप्पणी की। हालांकि कुछ लोगों को ये अटपटा लग सकता है कि आखिर देश के प्रधानमंत्री को क्या जरूरत पड़ी कि उन्होंने एक सजायाफ्ता नेता के नाम का हवाला दिया।

दरअसल पीएम मोदी इस बात के लिए खुद की पीठ थपथपाते नजर आए कि भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग के चलते ही 3-3 मुख्यमंत्री फिलहाल जेल की हवा खा रहे हैं। इनमें बिहार के दो मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और जगन्नाथ मिश्र शामिल हैं। इसके अलावा हरियाणा के पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला भी भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में ही हैं।

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एनसीसी कैडेट्स को संबोधित कर रहे थे। पीएम ने साफ कहा कि देश के युवाओं को भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं है। हालांकि भ्रष्टाचार के खिलाफ पीएम ने कहा कि जंग लंबी होगी। जिसमें युवाओं की अहम भागीदारी हो सकती है।

प्रधानमंत्री ने युवा एनसीसी कैडेट्स से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। खासकर डिजिटल क्रांति को लेकर प्रधानमंत्री ने अपील की कि हरेक युवा कम से कम डिजिटल लेन देन से 100 नए परिवारों को जोड़े।

प्रधानमंत्री ने युवाओं को भीम ऐप डाउनलोड करने का सुझाव दिया, जिसके जरिए आसानी से डिजिटल लेनदेन की जा सकती है। उन्होंने इस बारे में और पारदर्शिता लाने पर जोर दिया।