बेगलूरू: चप्पल गायब होना भारत में आम बात है। कुछ लोग जानबूझ कर दूसरों की चप्पल पहनकर चले जाते हैं। ऐसी घटनाएं भीड़ भाड़ वाले क्षेत्र, मंदिर और अन्य कार्यक्रमों के दौरान होती है। ऐसी ही घटना से उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को भी सामना करना पड़ा। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू उस समय दंग रह गये जब एक कार्यक्रम के दौरान कोई उनका जूता लेकर चला गया।

इसे भी पढ़ें:

वाईएसआरसीपी सांसदों ने उपराष्ट्रपति उम्मीदवार वेंकय्या नायडू को दी बधाई

वेंकय्या के चुनावी राजनीति से अलग होने से बीजेपी को होगा नुकसान : पुरेंधेश्वरी

नायडू के शासनकाल में पानी 20 रुपये और दूध 22 रुपये: वाई.एस.जगन

घटना के बारे में बताया जाता है कि बेंगलूरु में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद वेंकैया नायडू ने जब वापस आकर देखा तो जूता नदारद था। वे बेंगलूरू में भाजपा सांसद पी.सी.मोहन के घर औपचारिक मुलाकात के लिए गये थे।

उस समय केन्द्रीय मंत्री सदानंद गौड, कर्नाटक भाजपा के विधायक भी मौजूद थे। लगभग डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद जब वेंकैया नायडू जाने के लिए तैयार हुए तब अपना जूता नदारद पाया। इससे वेंकैया नायडू हतप्रभ रह गये। इससे वहां मौजूद कर्मचारी तुरंत पास के दुकान से नये जूते ले आये। बाद में वेंकैया नायडू अन्य कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवाना हुए।