रामपुर : उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में 'झूठी शान' की खातिर हत्या का मामला सामने आया है। घर वालों की मर्जी के खिलाफ एक अंतरजातीय युवक से प्रेम विवाह करने वाली गर्भवती हेल्थ सुपरवाइजर भावना को पिता और उसका फौजी भाई यशवंत सिंह उर्फ सौरभ ने मार डाला। भावना का भाई यशवंत बीएसएफ का जवान है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार, यह मामला तीन थाना क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। शहजादनगर थाना क्षेत्र में उदयराज की मंडैया गांव के पास केमरी थाना क्षेत्र के मूल रूप से कांगानगला गांव निवासी जितेंद्र कश्यप ने गांव की ही भावना के साथ प्रेम विवाह किया था। उनकी शादी 2016 में हुई थी। जिसका युवती के परिवार वाले विरोध कर रहे थे।

जितेंद्र की पत्नी भावना को उसके ही घर वालों ने रविवार को उस वक्त अगवा कर लिया था, जब वह अपने पति के साथ बाइक से जा रही थी। जितेंद्र की तहरीर के आधार पर थाना शहजादनगर पुलिस ने पिता गुरु दयाल व फौजी भाई यशवंत उर्फ सौरभ के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस ने विवाहिता का पता लगाने के लिए कांगानगला गांव से एक युवक को हिरासत में लिया और उससे पूछताछ की।

यह भी पढ़ें :

पुणे में बेटे के सामने बिल्डर की गोली मारकर हत्या

एक तरफा प्यार में लड़की की चाकू गोदकर हत्या की आशंका

पूछताछ में पता चला कि विवाहिता को मारकर बहेड़ी में फेंक दिया गया है, जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपी युवक की निशानदेही पर बहेड़ी (जिला बरेली) के आमटंडा गांव के पास से भावना की लाश को बरामद कर लिया और आगे की जांच में जुट गई है।

मामले में सीओ विजय बहादुर सिंह ने कहा के मृतक भावना ने जितेन्द्र ने प्रेम प्रसंग के चलते शादी की थी। भावना के परिजन शादी से खुश नहीं थे और इसी वजह से उसके परिजनों ने भावना की हत्या कर दी। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। भाई यशवंत सिंह और उसके पिता को गिरफ्तार करने के लिए टीमें बनाई गई हैं।