जोधपुर / नई दिल्ली : भाजपा की दिल्ली इकाई के नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा से प्रेरित होकर जोधपुर के युवाओं का एक समूह नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग को जूते भेज रहा है। इसमें पुराने जूते भी शामिल होंगे। यह कदम पाकिस्तानी जेल में कैद भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां के साथ किये गए बुरे बर्ताव के विरोध स्वरूप में उठाया जा रहा है।

दरअसल पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी की जूतियां झूठे आरोप लगाकर उतरवा लिए गए थे। मजे की बात ये कि पाकिस्तान ने जांच के बहाने इन जूतियों को लौटाया भी नहीं। इसके विरोध में दिल्ली में पाक उच्चायोग को करीब पांच सौ जूते भेजे गए हैं। साथ ही जूते भेजने का सिलसिला जारी है।

यह भी पढें:

PAK ने कहा - कुलभूषण जाधव की पत्नी की जूतियों में जासूसी का कुछ सामान लगा था

दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर सिंह बग्गा और अन्य कुछ लोगों ने ट्विटर पर 'जूता भेजो पाकिस्तान' अभियान शुरू किया है। जिसका लोग समर्थन करते हुए पाकिस्तान को जूते भेज भी रहे हैं।

बग्गा ने पाकिस्तान पर तंज कसा है, साथ ही कहा कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था खराब हो गई है, इसलिए वहां के लोगों के लिए भारत जूते भेज रहा है। पाकिस्तान उच्चायोग को जूते मिलने शुरू भी हो गए हैं।

बग्गा ने कल एक ई-कॉमर्स साइट के जरिये राष्ट्रीय राजधानी स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग को जूते भेजे थे।

बग्गा ने अपने ट्वीट में कहा था, पाकिस्तान हमारे जूते चाहता है। हम उन्हें अपने जूते देते हैं। मैंने जूते का ऑर्डर दिया है और उसे पाकिस्तान उच्चायोग को भेजा है। उन्होंने एक ऑनलाइन अभियान भी शुरू किया, जिसमें राष्ट्रवादियों से अनुरोध किया कि वे पाकिस्तान को जूते भेजें।

जाधव की मां और पत्नी ने हाल में पाकिस्तान में उनसे मुलाकात की थी। जाधव से मुलाकात कराने से पहले अधिकारियों ने उन्हें अपना मंगलसूत्र , बिंदी चूड़ियां और जूतियां उतारने पर मजबूर किया।

रंजीत सिंह राजपुरोहित ने नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग को एक जोड़ी जोधपुरी जूती भेजी। राजपुरोहित ने कहा कि उन्होंने अपने फेसबुक ग्रुप मित्र मंडली पर अपने मित्रों से अपील की कि वे उनके कदम का अनुकरण करें।