हैदराबाद: नव वर्ष के अवसर पर हैदराबाद के विभिन्न होटलों व पब में मादक द्रव्य बेचने की साजिश रचने वाले एक गिरोह को हैदराबाद वेस्ट जोन टास्क फोर्स पुलिस ने हिरासत में ले लिया। नाइजीरिया के रहने वाले तीन लोगों को हिरासत में लेकर उनके पास से एक करोड़ रुपये मूल्य के 250 ग्राम कोकीन, 30 ग्राम हेरोइन बरामद किया गया।

पुलिस आयुक्त वी.वी.श्रीनिवास राव और टास्क फोर्स के डीसीपी पी.राधाकिशन राव ने संवाददाताओं को जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह गिरोह नाइजीरिया से एयरकार्गो के जरिये ड्रग्स मुंबई लाकर वहां इसे चाकलेट के रूप में परिवर्तित कर निजी ट्रावेल्स की बसों में हैदराबाद लाता था।

अंतर्राष्ट्रीय गिरोह 100 ग्राम कोकीन 3.2 डालर में खरीदकर इसे दक्षिण अफ्रिका और नाईजीरिया में 32 डालर में बेचा करता था। इसकी कीमत अमेरिका में 300 डालर तक है जबकि भारत में उसकी कीमत 500 से 600 डालर तक है। पिछले वर्ष अक्तूबर में घाना का रहनेवाला लुकास पर्यटन वीसा पर मुंबई आया।

अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स गिरोह से जुड़ा लुकास ने यहां से नाईजीरिया के लिए कपड़ा एक्सपोर्ट करने का व्यापार शुरू किया। इस तरह भेजे गये कपड़ों में से कुछ कपड़े रिजेक्ट बताकर वापस भारत मंगाता था। खास बात यह है कि इन कपड़ों में ड्रग्स छुपाकर भारत वापस लाया जाता था। कस्टम अधिकारियों को कभी इस बारे में शक नहीं हुआ।

नाईजीरिया से चोरी-छिपे कपड़ों में लाये गये ड्रग्स को लुकास चाकलेट के रूप में परिवर्तित कर निजी ट्रावेल्स बसों में हैदराबाद लाकर एजेंटो को सौंपता था। इस तरह इस धंधे से कई अन्य विदेशी भी जुड़ गये। इस बारे में जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने अचानक छापा मारकर इस गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया।