पूर्णिया: जनता दल यूनाइडेट (जदयू) से निष्काषित वरिष्ठ नेता शरद यादव ने गुरुवार को पूर्णिया में आम सभा को संबोधित किया। शरद ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू को षड्यंत्र के तहत चारा घोटाला में फंसाया गया है, जिसमें नीतीश कुमार का हाथ है। हालांकि शरद ने अदालत से लालू को राहत मिलने की उम्मीद जताई। शरद ने दावा किया कि महागठबंधन का अस्तित्व है और लालू प्रसाद उसमें शामिल हैं।

बता दें कि आज पूर्णिया में शरद यादव लोकतंत्र बचाओ सम्मेलन को संबोधित करने वाले हैं। उनके साथ पूर्व राज्यसभा सांसद अली अनवर, रमई राम समेत कई नेता पूर्णिया पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें:

रार लेने से हार नहीं मानेंगे शरद यादव, जदयू पर दावेदारी के लिए पहुंचे कोर्ट

नायडू ने शरद यादव को अयोग्य ठहराने पर हो रही आलोचनाओं को खारिज किया

अदालती लड़ाई में हारने और राज्यसभा सदस्यता गंवाने के बावजूद भी शरद को लगता है कि जदयू के असली नेता वे ही हैं। उम्मीद के मुताबिक गुजरात में बीजेपी को सफलता नहीं मिलने से भी शरद खुश नजर आए। उनके मुताबिक बीजेपी 150 सीटों का दावा करती थी, जबकि सौ तक भी नहीं पहुंच सकी।

शरद ने हार्दिक पटेल का समर्थन करते हुए कहा कि हार्दिक चूंकि बीजेपी की खिलाफत कर रहे हैं, इसलिए वे उनके समर्थक हैं। शरद ने निशाना साधते हुए कहा कि एनडीए का मूल एजेंडा पीछे छूट गया है और वो मंदिर-मस्जिद, गाय और ताजमहल के नाम पर लोगों को बरगला रही है।

शरद यादव ने जाधव की मां और पत्नी के साथ पाकिस्तान में हुए सुलूक की भी निंदा की है। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान के कृत्य की पूरी दुनिया आलोचना कर रही है।

शरद यादव और उनका गुट अब इस बात को लेकर गंभीरता से विचार कर रहा है कि नई पार्टी बनाई जाय। इसको लेकर लगातार शरद जनसंपर्क कर रहे हैं और नीतीश कुमार के खिलाफ बयानबाजी जारी रखे हुए हैं।